DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: अमेरिका ने भारत से की एंटी मिसाइल सप्लाई की पेशकश

थाड मिसाइल
फाइल फोटो

नई दिल्ली।  रूस द्वारा भारत को और अधिक  एस- 400 एंटी मिसाइल प्रणाली बेचने से रोकने के लिये अमेरिका ने अपनी स्वदेशी कम्पनी लॉकहीड मार्टिन द्वारा बनाई गई थाड ( टर्मिनल हाई अल्टीट्यूड एरिया डिफेंस) एंटी मिसाइल प्रणाली सप्लाई करने की पेशकश की है। अमेरिकी अधिकारियों ने भारतीय रक्षा अधिकारियों से यह पेशकश भी की है कि भारत  रेथियन कम्पनी द्वारा बनाई गई पैट्रियट एडवांस्ड कैपैबिलीटी (पीएसी-3) मिसाइल डिफेंस सिस्टम हासिल कर सकता है।





यहां रक्षा सूत्रों ने बताया कि अमेरिकी और भारतीय रक्षा और सैन्य अधिकारियों से बातचीत के दौरान अमेरिकी प्रतिनिधियों द्वारा अक्सर इस आशय की पेशकश दुहराई जाती है। गौरतलब है कि पिछले साल भारत ने जब रूस से एस-400 एंटी मिसाइल प्रणाली का सवा पांचं अरब  डॉलर का सौदा किया था तब अमेरिका ने इसे रोकने की पूरी कोशिश की थी और इसके खिलाफ कैटसा कानून भी पारित किया था। कैटसा के तहत अमेरिका ने भारत पर कई तरह के प्रतिबंध लगाने का भी ऐलान किया था लेकिन भारत ने इसका कड़ा विरोध किया। अमेरिका ने बाद में कहा कि भारत एस-400 का सौदा तो जारी रख सकता है लेकिन आगे कोई भी बड़ा रक्षा सौदा करना हो तो अमेरिका उसे प्रतिबंध से मुक्त नहीं रखेगा।

अमेरिका ने एस-400 एंटी मिसाइल  सौदे के लिये विशेष छूट दी थी लेकिन अब अमेरिकी अधिकारी भारत को आगाह कर रहे हैं कि वह भविष्य में अमेरिकी एंटी मिसाइल प्रणाली ही हासिल करे। गौरतलब है कि तुर्की ने भी अमेरिकी एतराज के बावजूद रूस से एस-400 एंटी मिसाइल प्रणाली खरीदने का सौदा किया । अब तुर्की से भी अमेरिकी अधिकारी कह रहे हैं कि वह अमेरिकी थाड और पैट्रियट मिसाइलें खरीदे।

 गौरतलब है कि भारतीय रक्षा कर्णधारों ने एस-400 एंटी मिसाइल प्रणाली को  पाकिस्तान औऱ चीन की बैलिस्टिक मिसाइल हमले से बचाव  के लिये हासिल किया है। यह मिसाइल प्रणाली आसमान में 400 किलोमीटर दूर से आ रही दुश्मन की  किसी बैलिस्टिक मिसाइल को ध्वस्त कर सकती है।

Comments

Most Popular

To Top