DEFENCE

Special Report: भारत को एंटी मिसाइल प्रणाली देने को तैयार है अमेरिका

थाड मिसाइल
फाइल फोटो

नई दिल्ली। अमेरिका ने भारत को पेशकश की है कि वह रूसी एंटी मिसाइल प्रणाली एस- 400 की वैकल्पिक मिसाइल प्रणाली सप्लाई करने को तैयार है। अमेरिका के एक आला अधिकारी ने कहा है कि इसके लिये वह भारतीय अधिकारियों के साथ बातचीत कर रहा है।





गौरतलब है कि पिछले साल अमेरिका के घोर विरोध और चेतावनियों के बावजूद भारत ने रूस से पांच एस- 400 मिसाइल प्रणाली की सप्लाई के लिये सवा पांच अरब डॉलर का सौदा किया था। अमेरिका ने अप्रत्यक्ष धमकी दी थी कि वह रूस से यह सौदा करने पर भारत पर प्रतिबंध लगाएगा।

लेकिन अमेरिकी रक्षा मंत्रालय में असिस्टेंट डिफेंस सेक्रेटरी रैंडल श्रीवर ने वाशिंगटन में जनप्रतिनिधि सदन  की  आर्म्ड फोर्सेज कमेटी की हिंद प्रशांत इलाके में अमेरिकी सैन्य गतिविधियों पर एक सुनवाई के दौरान अपने बयान में कहा कि  अमेरिका ने भारत को भरोसा दिया है कि रूसी एस- 400 एंटी मिसाइल का सौदा करने पर वह भारत को किसी तरह से दंडित नहीं करेगा। लेकिन उन्होंने कहा कि भारत यदि ऐसा करता है तो यह दुर्भाग्यपूर्ण फैसला होगा। गौरतलब है कि अमेरिका ने रूस से सैनिक साज सामान खरीदने वाले देशों के खिलाफ कैटसा कानून लागू करने की धमकी दी है।

हम काफी उत्सुक हैं कि भारत एक वैकल्पिक पसंद भी करे और हम सम्भावित विकल्प प्रदान करने के लिये उनके साथ काम कर रहे हैं। अमेरिकी अधिकारी ने साफ किया कि कैटसा कानून भारत अमेरिका सामरिक साझेदारी में किसी तरह से आड़े नहीं आएगा।

पर्यवेक्षकों के मुताबिक अमेरिका ने लाकहीड मार्टिन की  थाड (Terminal High Altitude Area Defence)  एंटी मिसाइल प्रणाली के अलावा रेथियान की पैट्रियट मिसाइल प्रणाली पर विचार करने के लिये भारतीय रक्षा  अधिकारियों से आग्रह किया है।

गौरतलब है कि अमेरिकी अगुवाई वाले उत्तरी अटलांतिक संधि संगठन ( नाटो) के सदस्य देश तुर्की द्वारा भी रूस से एस- 400 एंटी मिसाइल का सौदा किया है जिससे अमेरिका काफी नाराज है। अमेरिका तुर्की पर दबाव डाल रहा है कि रूस से एस- 400 का सौदा नहीं करे और अमेरिकी एंटी मिसाइल प्रणाली ही खरीदे।

Comments

Most Popular

To Top