DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: दूसरे विश्व युद्ध का विमान पहुंचा भारत

स्पिटफायर बमवर्षक विमान

नई दिल्ली। दूसरे विश्व युद्ध के दौरान कई वायुसेनाओं द्वारा इस्तेमाल में किया गया स्पिटफायर बमवर्षक विमान इन दिनों दुनिया के उन देशों के दौरे पर हैं जहां ये विमान दूसरे विश्व युद्ध के दौरान गए थे। स्पिटफायर विमान भारतीय वायुसेना में साल 1958 तक सेवारत रहा था।





भारतीय वायुसेना के हिस्सा रहे ब्रिटेन में बने स्पिटफायर विमानों ने अंतिम बार 62 साल पहले भारतीय आसमान पर उड़ान भरी थी। लेकिन एक बार फिर ये विमान भारतीय नभक्षेत्र में प्रवेश करने के बाद अपनी उड़ानों से पुराने दिनों की भावनात्मक यादें ताजा कर दीं।

एक इंजन वाले इन विमानों ने अपनी ऐतिहासिक उड़ान इंग्लैंड से अगस्त में शुरू की थी। इनका लक्ष्य 29 देशों के लिये करीब 27 हजार मील की उड़ान करना है। यह विमान उन देशों को जाएगा जहां दूसरे विश्व युद्ध के दौरान इन्होंने उड़ान भरी थी। यह विमान गत 02 नवम्बर को भारतीय नभक्षेत्र में प्रवेश किया और कोलकाता होते हुए सोनेगांव हवाई अड्डे पर 04 नवम्बर को उतरा। इस विमान को स्टीव ब्रुक और मेट जोन्स उड़ा रहे हैं। इनकी अगवानी सोनेगांव वायुसैनिक अड्डे के स्टेशन कमांडर ग्रुप कैप्टन एस के तिवारी ने की। सोनेगांव वायुसैनिक अड्डे पर इन ब्रिटिश पायलटों ने अपनी रोमांचक उड़ान के अनुभव भारतीय वायुसैनिक अफसरों के साथ साझा किये।

Comments

Most Popular

To Top