DEFENCE

भारत को MIG-35 बेचना चाहता है रूस, ये है खासियतें..

मिग-35 (रूस)

नई दिल्ली। खबर है कि रूस ने भारत को अपने मिग-35 लड़ाकू विमान बेचने की इच्छा जताई है। मिग कॉर्पोरेशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी इल्या तारासेंको ने कहा है कि अगर भारत रुचि दिखाए, तो सौदा पक्का हो सकता है। रूस के ज़ुकोवस्की हवाई अड्डे पर हो रहे एयर शो MAKS- 2017 के दौरान पत्रकारों से बात करते हुए तारासेंको ने कहा कि भारत ने भी इस सिलसिले में दिलचस्पी दिखाई है। दोनों पक्ष तकनीक मामलों पर बातचीत कर भी रहे हैं।





फिफ्थ जेनरेशन का फाइटर जेट है मिग-35

मिग-35 एकदम नया फाइटर जेट है। इस साल जनवरी में लॉन्च हुआ यह स्टैल्थ विमान अमेरिकी कंपनी लॉकहीड मार्टिन के एफ-35 की टक्कर का माना जा रहा है। इसके सिस्टम मिग-29 जैसे ही हैं, जिनका इस्तेमाल भारतीय वायुसेना कर रही है। मिग-35 की विशेषताएं इसे पांचवीं पीढ़ी के नजदीक ले जाती हैं। इसमें तीन तरह के मिसाइल सिस्टम लगे हैं, जो हवा, जमीन और पानी में मार कर सकते हैं।

MIG- 35 की खासियतें

  • यह विमान उड़ाने और हवा में कलाबाजी खाने के साथ-साथ दुश्मन के रडार को भी चकमा देने में माहिर है। हवा में होने वाले मुकाबले में मिग- 35 की फुर्ती का जवाब नहीं है।
  • रूस का यह लड़ाकू विमान एक साथ 10 से 30 निशानों को खोजकर उनपर हमला कर सकता है।
  • आधुनिक मिसाइलों से लैस इस विमान की तोप भी जबरदस्त है। इसके दोनों डैनों पर मॉडर्न स्मार्ट बम लगाए जा सकते हैं।
  • रूस का यह विमान एक बार में 2,000 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है।
  • मिग- 35 मैक 1.94 की गति से उड़ान भरेगा। जो 2,400 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार होगी।
  • मिग- 35 पर ब्रह्मोस की भी तैनाती हो सकेगी। मिग- 35 1982 के बाद से सेवारत मिग- 29 लड़ाकू विमान का सबसे अडवांस्ड संस्करण है।
  • इसकी कीमत 40-50 मिलियन डॉलर है।

Comments

Most Popular

To Top