DEFENCE

खराब गोला-बारूद के कारण हुआ हॉवित्जर तोप में विस्फोट?

अल्ट्रालाइट हॉवित्जर तोप

नई दिल्ली। इसी माह की शुरुआत में पोखरण रेंज में हुए अपने जमीनी परीक्षण के दौरान हॉवित्जर तोप में विस्फोट हो गया था  इस संबंध में सेना की शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि टॉप के फेल होने का कारण खराब गोला-बारूद था। सूत्रों के मुताबिक, जांच में पाया गया कि दो सितंबर को तोप के बैरल में विस्फोट आर्डनेंस फैक्टरी बोर्ड (ओएफबी) द्वारा खराब गोला-बारूद की आपूर्ति के चलते हुआ था। इस मामले में अग्रिम जांच की जा रही है।





गौरतलब है कि हॉवित्जर तोपों को विश्व की सबसे बेहतरीन तोप में गिना जाता है। लोंग रेंज अल्ट्रा लाइट (यूएलएच) एम-777 तोप अमेरिका से खरीदी गई हैं। परीक्षण के दौरान इस तोप में विस्फोट की घटना के बाद इन तोपों के प्रदर्शन पर सवाल उठने लगे थे।

ओएफबी ने बताई ये वजह

शुरुआती जांच के नतीजे पर ओएफबी के प्रवक्ता उद्दीपन मुखर्जी का कहना है कि इसके असफल होने की कई वजहें हो सकती हैं। बैरल के अंदर से गोला बहुत रफ्तार से बाहर निकलता है। सिर्फ शैल (गोला) का खराब होना ही एकमात्र कारण नहीं हो सकता। हालांकि मुखर्जी ने जांच रिपोर्ट पर कोई टिप्पणी नहीं की। लेकिन उन्होंने कहा कि एम-777 तोप में जो गोला इस्तेमाल किया जाता है, उनका पहले क्वालिटी टेस्ट किया जाता है।

गौरतलब है कि बोफोर्स घोटाले के 30 साल बाद भारत ने होवित्जर तोप खरीद की डील की है। 145 हॉवित्जर तोपों की  डील के अंतर्गत मई में भारत को अमेरिका से परीक्षण के लिए दो हॉवित्जर तोपें प्राप्त हुईं थीं।

Comments

Most Popular

To Top