DEFENCE

रक्षा बल किसी भी चुनौती का सामना करने को तैयार : जेटली

नई दिल्ली: रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को लोकसभा को आश्वस्त किया कि किसी भी मोर्चे पर मिलने वाली चुनौती से निबटने में देश की सेनाएं पूरी तरह से तैयार हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार रक्षा खरीद पर तेजी से काम कर रही है और सेनाओं की जरूरतों से कोई समझौता नहीं किया जाएगा।





अरुण जेटली ने लोकसभा में कहा, “रक्षा खरीद प्रक्रिया जारी है। हम इसे तेज करने का प्रयास कर रहे हैं। सेना की किसी भी महत्वपूर्ण जरूरत से समझौता नहीं किया जाएगा, चाहे हमें किसी अन्य व्यय में कटौती करनी पड़े।” साथ ही उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे को लेकर विपक्षी दलों से राजनीति न करने की बात कही। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा ऐसा मुद्दा नहीं है जिस पर राजनीतिक दलों को एक दूसरे पर हमला करना चाहिए।

रक्षा मंत्रालय की अनुदान मांग पर चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए जेटली ने कहा, “राष्ट्रीय सुरक्षा और राष्ट्रीय तैयारी राजनीतिक मुद्दे नहीं हैं। उन्होंने कहा कि कुछ ऐसी समस्याएं हैं जो दशकों से बनी हुई हैं और साथ ही साथ कुछ अच्छी व्यवस्थाएं भी दशकों से बनी हुई हैं।

अरुण जेटली ने यह जवाब कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के उस आरोप पर दिया जिसमें उन्होंने सरकार पर रक्षा मंत्रालय पर ध्यान न देने की बात कही थी। उन्होंने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि सरकार रक्षा मंत्रालय पर ध्यान नहीं दे रही है। सिंधिया ने पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के दिल्ली में मौजूद नहीं रहने को लेकर भी सवाल उठाया।

सिंधिया ने कहा, “प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं कि आपकी राष्ट्रभक्त सरकार कहां है?, हम रक्षा में प्रगति क्यों नहीं कर पा रहे? इसका जवाब रहस्यमय नहीं है, साफ है कि समस्याएं तभी सुलझ सकेंगी जब रक्षा मंत्री दिल्ली में मौजूद होंगे।”

Comments

Most Popular

To Top