DEFENCE

ISRO ने नैविगेशन सेटेलाइट IRNSS- 1I का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया

ISRO ने लॉन्च किया सेटेलाइट

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष संगठन (इसरो) ने गुरुवार को श्रीहरिकोटा से एक नौवहन उपग्रह का सफलता पूर्वक प्रक्षेपण कर लिया है। सेटेलाइट लॉन्चिंग के बाद सफलतापूर्वक अपने ऑर्बिट में भी पहुंच गया है। यह लॉन्चिंग श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर से पीएसएलवी-सी 41 के माध्यम से की गई। इस तरह के उपग्रह एक समूह का हिस्सा होंगे।





IRNSS- 1I अब IRNSS- 1D की जगह लेगा जो सात नौवहन सेटेलाइट्स में से पहला है और यह तीन रुबिडियम परमाणु घड़ियों के फेल होने के बाद निष्प्रभावी हो गया था। सातों उपग्रह नैवआईसी नौवहन उपग्रह पुंज का हिस्सा हैं। यह प्रक्षेपण प्रतिस्थापन उपग्रह भेजने का इसरो की दूसरी कोशिश है।

नाविक प्रणाली का हिस्सा होगा यह सेटेलाईट

इसरो द्वारा  अभी तक 8 आईआरएनएसएस सेटेलाइट छोड़े जा चुके हैं, जिनमें  IRNSS-1H को छोड़कर अन्य सभी लॉन्च सफल रहे थे। IRNSS-1I यानी ‘इंडियन रीजनल नैविगेशन सेटेलाइट सिस्टम’, इसरो द्वारा विकसित एक ऐसा सिस्टम है, जो स्वदेशी तकनीक पर आधारित है। इसका मुख्य उद्देश्य देश और उसकी सीमा से 1,500 किलोमीटर की दूरी के हिस्से में इसकी उपयोगकर्ता को सही जानकारी देना है। IRNSS-1I इसरो की नाविक प्रणाली का हिस्सा होगा।

यह सेटेलाइट मैप तैयार करने, समय की सटीक जानकारी देने, नैविगेशन की पूरी जानकारी, समुद्री नेविगेशन के अलावा सैन्य क्षेत्र में भी सहायता करेगी। जगह, नेविगेशन और समय-सीमा बताने के लिए यह सेटेलाइट सिग्नल भेजेगी। यह इसरो की आईआरएनएसएस परियोजना का 9वीं सेटेलाइट होगा।

Comments

Most Popular

To Top