DEFENCE

यूएन शांति सेना : योगदान करने वालों में भारत दूसरे नंबर पर

नई दिल्ली: संयुक्त राष्ट्र संघ शांति सैनिक दल में योगदान करने वाले देशों में भारत दूसरे स्थान पर है। रक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष भामरे ने इस बात की जानकारी लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान दी। उन्होंने बताया कि, मौजूदा समय में यूएन शांति सैनिक दल में योगदान करने वाले सभी देशों में दूसरा सबसे बड़ा देश है। भारत 11 यूएन मिशनों और दो यूएन कार्यालयों में 6,891 भारतीय सैन्य कर्मी और 782 पुलिस कार्मिक उपलब्ध करा रहा है।





श्री भामरे ने बताया कि 31 जनवरी 2017 के अनुसार, सैन्य दलों और उपस्करों सहित शांति अभियानों में योगदान के लिए संयुक्त राष्ट्र पर भारत का 74.62 मिलियन अमेरिकी डालर बकाया है। यूएन शांति मिशनों के लिए प्रतिपूर्ति प्राप्त करना एक सतत प्रक्रिया है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा विधिवत सत्यापन के पश्चात और स्थापित लेखा प्रक्रियाओं के अनुसार दावों का निपटारा किया जाता है।

मंत्री ने बताया कि बकाया देयताओं के भुगतान मामले को न्यूयार्क में भारत के स्थायी मिशन और समय-समय पर विशेष दलों के दौरों के माध्यम से संयुक्त राष्ट्र के साथ सतत रूप से उठाया जाता है। वहीं, श्री भामरे ने यह भी कहा कि संयुक्त राष्ट्र में शांति सैन्य बलों के हिस्से को कम करने का भारत का विचार बिल्कुल नहीं है।

श्री भामरे ने उक्त बातें सदन के सदस्य धर्मवीर के सवालों का जवाब देते हुई कही। उन्होंने सवाल किया था कि यूएन शांति सैनिक दल में भारत के योगदान और उसके रैंक से जुड़े सवाल किए थे। साथ ही सैन्य दलों, उपस्करों सहित अभियानों में योगदान के लिए यूएन पर भारत की बकाया राशि से जुड़ी जानकारी भी मांगी थी।

Comments

Most Popular

To Top