DEFENCE

स्पेन-मोरक्को की सीमा, बता दिया भारत-पाकिस्तान बॉर्डर

स्पेन-मोरक्को-बॉर्डर

नई दिल्ली। भारत के लिए पाकिस्तान से लगती सीमा हमेशा से परेशानी का सबब रही है। सीमा पार से होने वाली घुसपैठ रोकने के लिए सरकार हरसंभव कदम उठा रही है। इसी के तहत बॉर्डर पर फ्लड लाइट्स भी लगाई गई हैं। गृह मंत्रालय की वार्षिक रिपोर्ट में भी इन फ्लड लाइट्स के बारे में विस्तार से जानकारी शामिल की गई है लेकिन मजे की बात ये है कि इस रिपोर्ट में फ्लड लाइट्स का असर दिखाने के लिए जो तस्वीर इस्तेमाल की गई है वो भारत की नहीं बल्कि स्पेन-मोरक्को सीमा की है।





सेपेन-मोरक्को-बॉर्डर

गृह मंत्रालय की रिपोर्ट में आंकड़ों के साथ स्पेन-मोरक्को बॉर्डर

खास बात ये है कि गृह मंत्रालय की रिपोर्ट की तरह सोशल मीडिया पर भी स्पेन-मोरक्को की ये पिक्चर खूब शेयर की जा रही है और इसे बॉर्डर को लेकर भारत सरकार की चुस्ती के तौर पर पेश किया जा रहा है।

‘ALT News’ के मुताबिक ये तस्वीर वर्तमान केंद्र सरकार के कार्यकाल की नहीं बल्कि 2006 की है। फोटो खींचने वाले फोटोग्राफर का नाम जेवियर मोयानो बताया जाता है और उन्होंने ये फोटो स्पेन-मोरक्को बॉर्डर की फ्लड लाइट्स को दिखाते हुए खींची थी।

फोटोग्राफर-मोयानो-की-खींची-पिक्चर

फोटो खींचने वाले फोटोग्राफर जेवियर मोयानो ने स्पेन-मोरक्को की ये तस्वीर 2006 में खींची थी (फाइल फोटो)

 

केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि ने कहा कि कोई जरूरत नहीं थी इन तस्वीरों को इस्तेमाल करने की। हमारी सीमा की भी कई अच्छी तस्वीरें हैं। उन्होंने कहा कि वे पता लगा रहे है कि ये तस्वीर कहां से ली गई और अगर गलत हुई तो माफी मांग लेंगे।

इस मामले में एक और खास बात ये है कि नासा की वेबसाइट पर भारत-पाकिस्तान के बॉर्डर की फ्लड लाइट्स दिखाते हुए फोटो मौजूद हैं फिर भी गृह मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में उसकी बजाय फर्जी फोटो का इस्तेमाल किया और स्पेन-मोरक्को बॉर्डर को भारत-पाकिस्तान बॉर्डर बनाकर दर्शाया गया।

Comments

Most Popular

To Top