DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: रक्षा मंत्री ने तवांग में मनाया ‘मैत्री दिवस’

राजनाथ सिंह तवांग में

नई दिल्ली। अरूणाचल प्रदेश के प्रसिद्ध तिब्बती मठ शहर तवांग में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को मैत्री दिवस मनाया। तवांग दिवस समारोह दिवस के मौके पर मौजूद रक्षा मंत्री ने कहा कि उत्तर पूर्वी राज्यों के लिये सरकार उत्तर पूर्व औद्यौगिक गलियारा विकसित करने की योनजा बना रही है।





11वें मैत्री दिवस के मौके पर रक्षा मंत्री ने कहा कि यह अरूणाचल गलियारा भारत और दक्षिण पूर्व एशिया के बीच जमीनी पुल के तौर पर काम करेगा। इस गलियारा से न केवल क्षेत्र के लोगों के लिये रोजगार के मौके मिलेंगे बल्कि व्यापार और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

राजनाथ सिंह ने कहा कि एक्ट ईस्ट नीति के तहत सरकार उत्तर पूर्वी राज्यों के विकास पर विषेष जोर दे रही है। उन्होंने कहा कि नया भारत का मार्ग उत्तर पूर्व राज्यों से होकर ही जाता है। सीमांत राज्यों में यातायात सम्पर्क बेहतर करने की कोशिशों पर राजनाथ सिंह ने कहा कि तवांग तक जाने के लिये सेला पास से होकर एक सुरंग बनाने की योजना , पासीघाट हवाई अड्डे को चालू करने औऱ इटानगर के नजदीक होलोगी हवाई अड्डे का निर्माण और सामरिक महत्व की तीन रेलवे लाइनों के निर्माण को मंजूरी मिल चुकी है। इन परियोजनाओं से स्थानीय आबादी के लिये हर मौसम के दौरान स़डक सम्पर्क मुहैया होगा।

रक्षा मंत्री ने मुख्य मंत्री पेमा खांडू की सड़क बनाने की पांच साल की योजना की सराहना करते हुए कहा कि वर्ष 2024 तक सभी अंतर राज्य और अंतर- जिला मार्ग को राज्य के राजमार्ग के स्तर के बराबर लाया जाएगा। मैत्री दिवस के मौके पर तवांग में स्थानीय सैनिक और सैन्य आधुनिकीकरण की झांकी दिखाई गई है। इसमें हथियारों की प्रदर्शनी और सैन्य हेलिकॉप्टर का फ्लाई पास्ट भी पेश की गई।

इस मौके पर रक्षा मंत्री ने सीमांत राज्यों के युवकों से कहा कि सशस्त्र सेनाओं में सक्रियता से भाग लें। उन्होंने कहा कि अरूणाचल प्रदेश के लोग अपनी राष्ट्रभक्ति के लिये जाने जाते हैं। उन्होंने कहा कि उनका मंत्रालय इटानगर में सेना लायजां सेल स्थापित करेगा। इससे थलसेना के साथ सहयोग बेहतर हो सकेगा।

दो दिनों का यह सामाजिक सैन्य मेला का संयुक्त तौर पर उद्घाटन राज्य के मुख्य मंत्री पेमा खांडू औऱ अरुणाचल प्रदेश के मुख्य मंत्री पेमा खांडू और पूर्वी थलसैनिक कमांड के जनरल आफीसर कमाडिं इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान ने किया। बाद में रक्षा मंत्री ने तवाग स्मारक का दौरा किया और शहीद सैनिकों के प्रति श्रद्धांजलि दी।

Comments

Most Popular

To Top