Army

15 फीसदी पूर्व सैनिकों को नहीं मिला OROP का लाभ

वन रैंक वन पेंशन (OROP)

धर्मशाला। वन रैंक वन पेंशन (OROP) की मांग को लेकर पूर्व सैनिक आज एक बार फिर मंथन करेंगे। इस बार धर्मशाला में इस मांग को लेकर मंथन के साथ जिन पूर्व सैनिकों को ओआरओपी का फायदा नहीं मिल पाया है, उनके लिए इंडियन एक्स सर्विसमैन लीग आवाज उठाएगी।





गौरतलब हो कि वन रैंक वन पेंशन का 15 फीसदी पूर्व सैनिकों को अभी तक लाभ नहीं मिल पाया है। इंडियन एक्स सर्विसमैन लीग हिमाचल प्रदेश का वार्षिक प्रदेश स्तरीय सम्मेलन आज धर्मशाला में राजकीय महाविद्यालय के सभागार में हो रहा है। इस सम्मेलन में प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे। सम्मेलन की अध्यक्षता लीग के प्रदेशाध्यक्ष मेजर विजय सिंह मनकोटिया करेंगे। इंडियन एक्स सर्विसमैन लीग अध्यक्ष दिल्ली मुख्यालय, लेफ्टिनेंट जनरल बलबीर सिंह (पीवीएसएम, वीएसएम) इस सम्मेलन में बतौर विशेष अतिथि शामिल होंगे।

लीग के प्रदेश महासचिव लेफ्टिनेंट कर्नल वाईएस राणा ने बताया कि इस वार्षिक सम्मेलन में पूर्व सैनिकों की विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की जाएगी। लेफ्टिनेंट कर्नल वाईएस राणा ने बताया कि पूर्व सैनिकों की चिरलंबित मांग वन रैंक वन पेंशन (ओआरओपी) को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है, लेकिन करीब 15 फीसदी पूर्व सैनिकों को इसका लाभ अभी तक नहीं मिल पाया है।

सरकार से ओआरओपी से वंचित वर्ग को भी लाभ देने का मामला उठाया जाएगा। सरकार से यह भी मांग की जाएगी कि ओआरओपी का लाभ वर्ष 2014 के बजाय वर्ष 2013 से देय हो। उन्होंने बताया कि सेना में विभिन्न समय पर समान पदों पर कार्य कर चुके सैनिकों की पेंशन व अन्य भत्तों में अभी भी असमानता है।

Comments

Most Popular

To Top