DEFENCE

डेढ़ महीने में पीपुल्स लिबेरशन आर्मी की 120 बार घुसपैठ

भारत-चीन-सीमा

नई दिल्ली। भारत-चीन सीमा पर चीनी सेना (पीपुल्स लिबेरशन आर्मी) और भारती सैनिकों के बीच हुए विवाद के बाद गृह मंत्रालय में मंगलवार को एक अहम बैठक हुई। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरन रिजिजू द्वारा बुलाई गई इस बैठक में डायरेक्टर जनरल मिलिट्री ऑपरेशन से जुड़े ऑफिसर, ITBP के डीजी आर के पचनंदा और सीमा से जुड़े तमाम अधिकारी मौजूद थे।





गौरतलब है कि हाल के महीनों में भारत-चीन सीमा पर होने वाले चीनी घुसपैठ की संख्या बढ़ी है। सिक्कम के अलावा कई दूसरे इलाकों में भी हुई चीनी घुसपैठ हुई है। सूत्रों के अनुसार, पिछले 45 दिनों में ही पूरे भारत-चीन सीमा पर करीब 120 बार चीनी घुसपैठ की रिपोर्ट मिली है, जबकि पिछले पूरे साल में 240 घुसपैठ हुई थी।

सूत्रों के मुताबिक़ चीनी घुसपैठ सबसे ज्यादा लद्दाख सेक्टर में प्योगेंग के पास हुई है। पिछले 45 दिनों में इस सेक्टर में 100 के करीब घुसपैठ की रिपोर्ट है, जबकि पिछले साल इसी इलाके में पूरे साल 150 के करीब घुसपैठ की रिपोर्ट है। चमोली के भारत-चीन सीमा में इस साल चार बार हवाई सीमा के उल्लंघन की रिपोर्ट मिली है। चीनी सेना के हेलिकॉप्टर करीब 500 मीटर भीतर तक दाखिल हुए।

चीन और भारत के सैनिकों में हई थी भिड़ंत !

बता दें कि सोमवार(26 जून) को ही एक वीडियो सामने आया था, जिसमें सिक्किम सेक्टर में भारत-चीन सीमा पर तैनात जवानों और चीनी सैनिकों के बीच झड़प हुई है। चीन की ‘पीपुल्स लिबरेशन आर्मी’ ने भारत के सिक्किम सेक्टर में घुसकर दो बंकर भी तबाह कर दिए हैं। दोनों देशों के सैनिकों के बीच यह रस्साकशी सिक्किम के डोका ला क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों से चल रही है।

साथ ही चीनी सैनिकों ने कैलाश मानसरोवर यात्रा पर जा रहे श्रद्धालुओं के जत्थे को भी रोक दिया है। इस इलाके में चीनी सैनिकों को भारतीय क्षेत्र में आगे बढ़ने से रोकने के लिए भारतीय सैनिकों को काफी मशक्कत करना पड़ा है। वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीनी सैनिकों को रोकने के लिए भारतीय सैनिकों ने मानव श्रृंखला बनाई। इनमें से कुछ जवानों ने घटना की वीडियोग्राफी की और तस्वीरें उतारीं।

Comments

Most Popular

To Top