DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: एक हजार बराक-8 मिसाइलों के हिस्से अब भारत में ही बनेंगे

बराक- 8 मिसाइल
फोटो सौजन्य- गूगल

नई दिल्ली। इजराइली बराक-8 मिसाइल की हालांकि भारत डाइनामिक्स लि. में एसेम्बलिंग हो रही है लेकिन इसके अहम कलपुर्जे अब भारत में ही बनेंगे। मध्यम दूरी तक मार करने वाली (MRSAM) इजराइली बराक-8 मिसाइल के हिस्से भारत में बनान के लिये इजराइली कम्पनी राफेल ने भारत की प्राइवेट सेक्टर की कम्पनी कल्याणी ग्रुप के साथ एक संयुक्त उद्यम स्थापित किया है।





कल्याणी राफेल एडवांस्ड सिस्टम( KRAS) नाम से स्थापित इस संयुक्त उद्मम कम्पनी को रफाय़ल कम्पनी ने बराक-8 मिसाइलों के विभिन्न उपकरणों को बनाने के लिये दस करोड़ डालर का एक ठेका दिया है। इन कलपुर्जों से भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के रक्षा उपक्रम भारत डाइनामिक्स लि. एक हजार बराक-8 मिसाइलों का उत्पादन करेगी। कल्याणी राफेल एडवांस्ड सिस्टम 49:51 के अनुपात वाली एक संयुक्त उद्मम कम्पनी है जो राफेल एडवांस्ड सिस्टम और कल्याणी स्ट्रैटजिक सिस्टम्स लि. के बीच स्थापित की गई है।

राफेल कम्पनी के कार्यकारी उपाध्यक्ष और इसके एयर एंड मिसाइल डिफेंस सिस्टम्स के जनरल मैनेजर ब्रिगेडियर जनरल ( रि.) पिनी यंगमैन ने संयुक्त उद्मम कम्पनी को दस करोड़ डालर के ठेके के कागजात सौंपे। राफेल कम्पनी के वाइस प्रेजिडेट के मुताबिक मेक इन इंडिया के अनुरूप अपनी प्रतिबद्धता दिखाते हुए भारतीय कम्पनी को यह ठेका दिया गया है। राफेल एडवांस्ड सिस्टम्स का भारतीय रक्षा उद्योग औऱ सेनाओं के साथ सहयोग का लम्बा औऱ समृद्ध इतिहास रहा है। मेक इन इडिया के तहत रफाय़ल ने अब तक 25 करोड़ डालर के निवेश किये हैं। यंगमैन ने कहा कि भारत मे मेक इन इंडिया कार्यक्रम के साथ अपने क जोड़ने से हमें गर्व महसूस हो रहा है। इस मौके पर कल्याणी ग्रुप के चेयरमैन बाबा कल्याणी ने कहा कि इजराइली कम्पनी द्वारा दिये गए इस आर्डर से पता चलता है कि इस तरह की क्षमता भारत में मौजूद है। हमें विश्वास है कि हम इस तरह के और आर्डर लागू कर सकेंगे।

Comments

Most Popular

To Top