Air Force

अक्षय को फिल्मी आतंकवादियों की हरकत से मिला आइडिया

नई दिल्ली: केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) को शौर्य दिवस के अवसर पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह और अभिनेता अक्षय कुमार ने शहीदों के परिजनों को सीधे सहायता राशि देने के लिए ‘भारत के वीर’ पोर्टल को लांच किया। इस अवसर पर राजनाथ सिंह ने अपने संबोधन में कश्मीर में सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी करने वाले युवाओं को आड़े हाथों लिया।अभिनेता अक्षय कुमार ने इस मौके पर खुलासा किया कि उन्हें शहीदों के परिजनों को सीधे आर्थिक मदद करने का आइडिया एक डॉक्‍यूमेंट्री फिल्‍म देखकर आया। हालांकि, यह फिल्म आतंकवादियों के लिए थी लेकिन अक्षय कुमार ने इसे पाजिटिव लेते हुए शहीदों के लिए अपना आइडिया दिया।





शहीदों के लिए डोनेशन देना है, करें इन स्टेप्स को फॉलो

उन्होंने कश्मीर के ‘भटके’ हुए लोगों का जिक्र किया और पैरामिलिट्री फोर्सेज की दरियादिली की सराहना करते हुए कहा कि कश्मीर में कुछ लोग हमारे जवानों पर पत्थर फेंकते हैं लेकिन जब संकट की घड़ी आती है तो यही जवान उनकी भी जान बचाते हैं। उन्होंने कहा कि वह आश्वस्त हैं कि कश्मीर के हालात बदलेंगे।

पोर्टल लॉंचिंग के अवसर पर अभिनेता अक्षय कुमार की आंखे भर आई

इस मौके पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह सिंह ने शहीदों को सम्मानित भी किया। एक शहीद के परिजन को सम्मान देते हुए गृहमंत्री।

सीआरपीएफ के एक जाबांज जवान को सम्मान देते गृहमंत्री राजनाथ सिंह बगल में अभिनेता अक्षय कुमार (दाईं तरफ), सीआरपीएफ के एडिशनल डीजी सुदीप लखटकिया (बाएं) और अन्य

शहीदों के मददगार ‘भारत के वीर’ के लॉंचिंग पर रो पड़े अभिनेता अक्षय कुमार

राजनाथ सिंह ने जानकारी दी कि पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों की बदोलत ही माओवाद में 45 प्रतिशत की और उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र में 70 प्रतिशत की कमी आई है।

जवानों के जज्बे को भेदने वाली कोई गोली नहीं बनी

इस मौके पर उन्होंने बांदीपुरा मुठभेड़ में घायल हुए और हाल में एम्स से छुट्टी पाए सीआरपीएफ के कमांडेंट चेतन चीता की सराहना करते हुए कहा कि राष्ट्र विरोधी ताकतें ऐसे लोगों के सीने को तो भेद सकती हैं लेकिन उनके जज्बे और हौसले को नहीं। उन्होंने कहा कि चेतन चीता अपने हौसले के कारण ही जिंदा हैं। जवानों के जज्बे और हौसले को भेदने वाली अभी तक कोई गोली बनी ही नहीं है।

एक अन्य शहीद के परिजन को सम्मान देते गृहमंत्री राजनाथ सिंह

देश के हीरो हैं अक्षय

“भारत के वीर” वेब पोर्टल का श्रेय फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार को देते हुए कहा राजनाथ सिंह ने कहा कि अक्षय सामाजिक कार्यों में भी एक्शन में रहते हैं। उन्होंने कहा कि अक्षय देश के हीरो हैं लेकिन इनके हीरो पैरामिलिट्री जवान हैं। राजनाथ ने देश की जनता से इस पोर्टल के माध्यम से बहादुर जवानों को मदद में योगदान की अपील के साथ ही उनके शौर्य से प्रेरणा लेने की सलाह दी।

इस मौके पर बॉलीवुड एक्‍टर अक्षय कुमार मुख्‍य अतिथि थे। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस तरह का आइडिया देने और उसे आकार देने के लिए अक्षय का शुक्रिया अदा किया। गृहमंत्री ने कहा कि उन्‍हें इस बात की संतुष्टि है कि यह पोर्टल सीआरपीएफ और केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के सैनिकों को प्रेरणा देने के काम आएगा।

शहीद के परिजनों को मिले एक करोड़ रुपए की सहायता राशि

राजनाथ सिंह ने कहा कि किसी जवान या अधिकारी के शहीद होने पर उनके परिवार के लोगों को कम से कम एक करोड़ की सहायता राशि मिलनी चाहिए। उन्होंने इस मौके पर जवानों की आर्थिक मदद के लिए “भारत के वीर” नामक वेब पोर्टल का उद्घाटन किया और सीआरपीएफ जवानों को वीरता अवॉर्ड और मेडल से सम्मानित भी किया।

एक आइडिया जिससे बना ‘भारत का वीर’

अभिनेता अक्षय कुमार ने इस मौके पर खुलासा किया कि उन्हें शहीदों के परिजनों को सीधे आर्थिक मदद करने का आइडिया एक डॉक्‍यूमेंट्री फिल्‍म देखकर आया। हालांकि, यह फिल्म आतंकवादियों के लिए थी लेकिन अक्षय कुमार ने इसे पाजिटिव लेते हुए शहीदों के लिए अपना आइडिया दिया।

भारत के वीर पोर्टल के जरिए सीधे शहीदों के परिजनों को वित्तीय मदद लोग भेज सकेंगे

अक्षय ने इस बात का खुलासा किया कि इस डॉक्‍यूमेंट्री में दिखाया गया था कि आतंकवादी यह कहते हुए नजर आ रहे थे कि अगर उन्‍हें कुछ हो गया तो उनके परिवार वालों की मदद करनी होगी। अक्षय के मुताबिक वह इस नकारात्‍मक तथ्‍य को एक सकारात्‍मक तथ्‍य में बदलना चाहते थे। यानि, जब आतंकी के लिए उसके समर्थक जब पैसे इकट्ठा कर सकते हैं तो शहीदों के परिजनों को लिए क्यों नहीं?

सायना नेहवाल भी आईं सीआरपीएफ के शहीद जवानों के लिए आगे

गौरतलब है कि पिछले 11 मार्च को छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के 12 जवानों के प्रत्येक परिजन को अक्षय कुमार ने नौ लाख रुपए की सहायता राशि दी थी। इसके बाद बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने भी प्रत्येक पीड़ित परिवार को 50 हजार रुपए दान में दिए थे।

Comments

Most Popular

To Top