Air Force

एयरोस्पेस विवि का नया नाम एचएएल वैमानिकी संस्थान

हिंदुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड

नई दिल्ली: एयरोस्पेस विश्वविद्यालय का नया नाम एचएएल वैमानिकी संस्थान कर दिया गया है और इसकी स्थापना पर विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) का अनुमोदन एचएएल बोर्ड ने किया है। हिंदुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड (एचएएल) बोर्ड ने संस्थान से जुड़े खर्च की जानकारी सरकार को दे दी है। इस संस्थान से अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों को जोड़े जाने पर निर्णय संस्थान के बन जाने के बाद लिया जाएगा। यह जानकारी राज्यसभा में रक्षा राज्यमंत्री डॉ सुभाष भामरे ने एक सवाल के जवाब में दी।





संस्थान से जुड़े एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने सदन को बताया कि एचएएल के पुनर्गठन और सुदृढ़ीकरण के लिए सरकार द्वारा गठित पूर्व मंत्रिमण्डल सचिव तथा योजना आयोग के तत्कालीन सदस्य बी.के. चतुर्वेदी की अध्यक्षता वाले विशेषज्ञ समूह ने एयरोस्पेस विश्वविद्यालय की स्थापना करने की सिफारिश की थी। उनकी सिफारिश को सरकार ने स्वीकार कर लिया था।

मंत्री ने उक्त जवाब सदन के एक अन्य सदस्य राम विचार नेताम के सवाल पर दिया। नेताम ने हिंदुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड द्वारा देश में एयरोस्पेस यूनिवर्सिटी स्थापित करने में आने वाली लागत, अन्तर्राष्ट्रीय संस्थानों के इसमें भागीदारी और संस्थान में विषयों और विभागों से जुड़े सवाल पूछे थे।

Comments

Most Popular

To Top