DEFENCE

भारत-बांग्लादेश के बीच रक्षा क्षेत्र समेत 22 समझौते

नई दिल्ली: भारत-बांग्लादेश अब रक्षा के क्षेत्र में आपसी समन्वय बढ़ाएंगे। इसके लिए दोनों देशों के सैन्य कॉलेजों के बीच कई रक्षा समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना की मौजूदगी में दोनों देशों के अधिकारियों ने इन समझौतों पर हस्ताक्षर किए।





पहला समझौता दोनों देशों के बीच रक्षा समन्वय फ्रेमवर्क को लेकर हुआ। भारत सरकार की ओर से रक्षा सचिव और बांग्लादेश की ओर से प्रिसिंपल स्टॉफ ऑफिसर ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किए। इसके अंतर्गत दोनों देश आपस में सैन्य समन्वय बेहतर करने के लिए एक कार्य-प्रणाली निर्मित करेंगे।

इसी तरह भारत के वेलिंगटन (तमिलनाडु) में स्थित डिफेंस सर्विस स्टॉफ कॉलेज और बांग्लादेश के मीरपुर में स्थित डिफेंस सर्विस कमांड एंड स्टॉफ कॉलेज के बीच दो समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। इन समझौतों के मुताबिक अब दोनों देेश आपस में सैन्य रणनीति और ऑपरेशनल स्टडीज़ को लेकर आपसी सहयोग बढ़ाएंगें। इन समझौतों पर भारत के रक्षा सचिव और बांग्लादेश के प्रिसिंपल स्टॉफ ऑफिसर ने हस्ताक्षर किए।

इसी तरह दोनों देशों के अधिकारियों के बीच बांग्लादेश के ढाका में स्थित नेशनल डिफेंस कॉलेज और भारत के नई दिल्ली के नेशनल डिफेंस कॉलेज के बीच तीन समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। इन तीन समझौतों के मुताबिक अब दोनों देश नेशनल सेक्युरिटी, डिफेंस डेवलपमेंट एवं रक्षा रणनीति पर मिलकर काम करेंगे।

बताते चलें कि बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना अपनी चार दिन की भारत यात्रा पर हैं। शनिवार को दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच वार्ता हुई और 22 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए।

 

बस सेवा का उद्घाटन

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संयुक्त रूप से एक बस सेवा जो कोलकाता, खुलना और ढाका के बीच चलेगी तथा एक नई यात्री ट्रेन सेवा जो खुलना से कोलकाता के बीच चलेगी, का शुभारम्भ किया। यह भारत में पेट्रोपोल और बांग्लादेश में बानोपोल के बीच चलेगी। इसके अलावा राधिकापुर और बिरोल के बीच मालगाड़ी भी चलेगी।

भारत-बांग्लादेश के बीच बस सेवा शुरू की गई यह बस कोलकाता, खुलना और ढाका के बीच चलेगी

भारत द्वारा इसके अलावा नुमालीगढ़ से पार्बतीपुर तक डीजल तेल पाइपलाइन को वित्त पोषित किया जाएगा जिससे भारतीय कंपनियां हाई स्पीड डीजल की आपूर्ति के लिए लंबी अवधि के समझौते में शामिल होंगी।

प्रेस वार्ता में प्रधानमंत्री मोदी ने बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के भारतीय सैनिकों का सम्मान करने के लिए बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा, “1971 के मुक्ति संग्राम में भारतीय सैनिकों का सम्मान करने का आपका निर्णय भारत के लोगों के दिलों को गहराई से छुआ है।”

संयुक्त प्रेसवार्ता के दौरान भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (दाएं) और उनकी बाग्लादेशी समकक्ष शेख हसीना

इसी तरह शेख हसीना ने बांग्लादेश के संस्थापक शेख मुजीबुर्रहमान के नाम पर नई दिल्ली में एक महत्वपूर्ण सड़क का नामकरण करने के लिए भारत का भी आभार व्यक्त किया। उन्होंने दक्षिण एशियाई क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने और भारत तथा बांग्लादेश के बीच बेहतर सीमा संपर्क की बात कही।

उन्होंने कहा, “दक्षिण एशिया में विकास के लिए क्षेत्रीय सहयोग बहुत महत्वपूर्ण है। हम दोनों अपनी सीमाओं को आपराधिक गतिविधियों से मुक्त करना चाहते हैं … हमने अपने द्विपक्षीय संबंधों को नए उच्च स्तर तक ले जाने का फैसला किया है। प्रधान मंत्री मोदी और मैं मानती हूं कि इस क्षेत्र के लिए अधिक से अधिक कनेक्टिविटी महत्वपूर्ण है।”

Comments

Most Popular

To Top