Forces

ओडिशा में ‘फानी’ से मच सकती है तबाही, सेनाएं हाई अलर्ट पर

फानी तूफान
फाइल फोटो

नई दिल्ली/भुवनेश्वर। चक्रवात तूफान ‘फानी’ ने अब भयंकर रूप धारण कर लिया है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) ने कहा कि भारत के पूर्वी तट की ओर बढ़ रहे चक्रवाती तूफान फानी के 03 मई को ओडिशा के पुरी के दक्षिण में गोपालपुर और चांदबली के बीच दस्तक देने की संभावना है। राज्य में भारी तबाही की आशंका है इसे लेकर ओडिशा के कुछ हिस्सों में येलो और कुछ हिस्सों में रेड अलर्ट जारी किया है। 103 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है।





बुधवार को ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की अगुवाई में बैठक हुई। जिसमें तय किया गया है कि राज्य सरकार गुरुवार शाम तक तटीय और निचले इलाकों में रहने वाले करीब 08 लाख नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाएगी।

नौसेना, तटरक्षक जहाजों, हेलिकॉप्टरों, एनडीआरएफ की राहत टीमों को कई स्थानों पर तैनात किया गया है। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए थल सेना, वायुसेना की टुकड़ियों को भी तैयार रखा है।

एनडीएमए ने कहा है कि फानी के प्रभाव से अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय के कुछ इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। इस चक्रवात के प्रभाव से जम्मू-कश्मीर, पश्चिम बंगाल और सिक्किम के कुछ हिमालयी इलाकों में 40-50 किलोमीटर/ घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।

ओडिशा में तूफान फानी के मद्देनजर 11 जिलों में चुनावी आचार संहिता को हटाने की मंजूरी दी गई है। ताकि राहत व बचाव कार्य में तेजी लाई जा सके। पर्यटकों को आज शाम तक पुरी तट छोड़ने तथा 3-4 मई को संभावित जिलों की यात्रा रद्द करने को कहा गया है। बंदरगाह में खतरे का निशान लगा दिया गया है।

Comments

Most Popular

To Top