CRPF

बस कुछ घंटे और…, चीता को मिल जाएगी AIIMS से छुट्टी

नई दिल्ली/जयपुर: केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 45वीं बटालियन के कमाडेंट चेतन चीता ने मौत को मात दे दी है और उनकी हालत में अब काफी सुधार आ गया है। उन्हें बुधवार को सम्भवत: एम्स से छुट्टी दे दी जाए। एम्स ट्रामा सेंटर की ओर से जारी एक ताज़ा मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक़ चेतन चीता को बुधवार अस्पताल से छुट्टी दी जा सकती है।





कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते हुए बुरी तरह से घायल हुए चेतन चीता की जान बचाने के लिए वरिष्ठ डॉक्टरों की टीम पिछले कई दिनों से लगी हुई थी। भर्ती होने के बाद कई दिनों तक तो चेतन चीता की हालत में कोई बदलाव नहीं देखा जा रहा था, लेकिन धीरे-धीरे स्वास्थ्य में सुधार हुआ और वह खतरे से बाहर निकल आये। गोलियां लगने से चीता के शरीर में हुए इन्फेक्शन और दिमागी बुखार से बचाना डॉक्टरों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं था। उनके शरीर में नौ गोलियां लगी थी जिसे डॉक्टरों ने ऑपरेशन के दौरान निकाला।

देश भर में चला दुआओं का सिलसिला

चेतन चीता के स्वास्थ्य लाभ की कामना के लिए देश भर में दुआओं का दौर चला। कोई मंदिर में तो कोई मस्ज़िद में, हर धर्म के लोगों ने चीता की सकुशल ज़िन्दगी के लिए कामना की।

मुठभेड़ में हुए थे घायल

चेतन चीता उत्तर-कश्मीर के बांदीपुरा में आतंकियों के साथ 14 फरवरी को मुठभेड़ में नौ गोली लगने के बाद भी चेतन चीता ने आतंकियों का सामना किया और छलनी होने और आंख में गोली लगने के बावजूद 16 राउंड गोलियां चलाई और लश्कर के खतरनाक आतंकी कमांडर अबू हारिस को ढ़ेर कर दिया। चीता की आँख और सिर में भी गोली लगी थी। चीता की एक आंख खराब हो गई है।

चेतन चीता मूल रूप से राजस्थान के कोटा के रहने वाले हैं और उनके पिता रिटायर्ड आरएएस अफसर हैं। चेतन की पत्नी और दोनों बच्चे दिल्ली रहते हैं।

Comments

Most Popular

To Top