Army

‘साग बनाकर रखना, कल आऊंगा’ वह पहुंचा तो लेकिन शहीद होकर  

जम्मू। ‘छुट्टी मंजूर हो गई है,  कल सुबह आऊंगा ‘साग बनाकर रखना’….। पत्नी महेंद्र कौर से फोन पर जगसीर सिंह ने कहा था। लेकिन उसकी पत्नी को यह अंदाजा भी नहीं होगा कि वह मोर्चे पर तैनात अपने पति से आखिरी बार बात कर रही है।





परिवार फौजी बेटे के घर आने का ख़ुशी से इंतज़ार कर रहा था। जगसीर के पिता अमरजीत सिंह अपने बेटे की साग खाने की इच्छा पूरी करने के लिए सुबह ही खेत जाकर साग बीन कर ले आए और इसी बीच परिवार को जगसीर के शहीद होने की खबर मिली।  19 पंजाब यूनिट का सिपाही जगसीर अपने घर के लिए रवाना होने से पहले ही दुश्मन की नापाक हरकतों का मुंहतोड़ जवाब देते हुए शहीद हो गया।

फिरोजपुर के लोहगढ़ गांव के 32 वर्षीय जगसीर सिंह एक हफ्ता पहले ही ड्यूटी पर गए थे। और नए वर्ष पर फिर घर आने की बात कह रहे थे। उनके शहीद होने की खबर ने परिवार को तोड़कर रख दिया।जिस घर में बेटे के घर पहुंचने पर नए साल का जश्न मनाने की तैयारियां चल रही थीं वे सब मातम में बदल गईं।

जगसीर के परिवार में माता-पिता, पत्नी, दो बेटियां और एक बेटा है। शहीद जगसीर की मां  गुरमीत कौर ने सेना से अपने बेटे की शहादत का बदला लेने के लिए कहा है।

पाकिस्तानी कमांडो ने  स्नाइपर शॉट से किया हमला 

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के राजौरी दौरे के एक ही दिन बाद रविवार को पाकिस्तान ने एक बार फिर से राजौरी के नौशेरा सेक्टर में गोलाबारी की। पाक की गोलाबारी का भारतीय सेना में भी मुंहतोड़ जवाब दिया है। पाकिस्तान की ओर से हुई गोलाबारी के बाद नौशेरा समेत एलओसी से सटे तमाम इलाकों में उपजे तनाव के मद्देनजर सुरक्षाबलों को हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने  राजौरी के क्षेत्रों दौरा कर जवानों से दुश्मन को कड़ा जवाब देने को कहा था। पाकिस्तान इस क्षेत्र में बार-बार सीज फायर का उलंघन कर रहा है।  रविवार को पाकिस्तानी सेना के कमांडो ने स्नाइपर शॉट दागा जो मोर्चे पर तैनात सिपाही जगसीर सिंह को लगा। शहीद जगसीर के पार्थिव शरीर को नौशहरा लाया गया। इसके बाद अधिकारियों ने शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित की और शव को पंजाब उनके पैतृक स्थान रवाना कर दिया।

पिछले पांच माह में स्नाइपर शॉट से तकरीबन 6 जवान मारे जा चुके हैं।

Comments

Most Popular

To Top