Army

नए लड़ाकू सैनिकों का हुआ ‘दीक्षांत समारोह’

अमर योद्धा

नागपुर। गार्ड्स रेजीमेंट सेंटर (कामटी) में 119 कोर्स के नए रिक्रूटों की शानदार तथा भब्य पासिंग आउट परेड आयोजित हुई। इसमें उन्हें ‘ब्रिगेड ऑफ द गार्ड्स’ के गौरवशाली ‘गार्ड्समैन’ का दर्जा मिला। इसी दौरान उन्होंने संकट की स्थिति में अपनी जान की परवाह न करते हुए देश की रक्षा करने की शपथ ली। इस भव्य दीक्षांत परेड का अवलोकन ब्रिगेडियर पंकज मल्होत्रा, कमांडेंट गार्ड्स रेजीमेंट सेंटर ने किया। देश के सुदूर क्षेत्रों से आए रिक्रूटों के माता-पिता तथा परिवारजन इस ऐतिहासिक क्षण के गवाह बने।





बता दें कि ‘ब्रिगेड ऑफ द गार्ड्स’ भारतीय सेना की एक ऐसी विशिष्ट रेजीमेंट है जिसमें देश के हर क्षेत्र से सैनिकों का समावेश होता है। गार्ड्स रेजीमेंट सेंटर रिक्रूटों को बेहतरीन प्रशिक्षण प्रदान कर सर्वश्रेष्ठ योद्धा तैयार करता है जो सैनिक के रूप में रेजीमेंट तथा बटालियन में शामिल होते हैं।

दीक्षांत समारोह

रिक्रूटों को संबोधित करते हुए कमांडेंट ने कहा कि उन्हें शारीरिक एवं मानसिक रूप से चुस्त-दुरुस्त, चौकस एवं अपने कार्यक्षेत्र में निपुण रहना चाहिए। रिक्रूट भारतीय सेना की नींव हैं। अपने वीर पूर्वजों का अनुशरण कर उनके पदचिन्हों पर चलना है। हमारे महान राष्ट्र के सम्मान, प्यार और सहयोग के लिए कोई कसर नहीं छोड़नी है।

प्रशिक्षण के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में अच्छे प्रदर्शन के लिए उत्कृष्ट गार्ड्समैनों को मैडल देकर सम्मानित किया गया। सभी क्षेत्रों में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए रिक्रूट उत्तम को सर्वश्रेष्ठ रिक्रूट की ट्राफी प्रदान की गई जो कि हरियाणा राज्य के जिला भिवानी का रहने वाला है।

Comments

Most Popular

To Top