Army

अरुणाचल में एक किमी तक घुसे चीनी, भारतीय सेना ने खदेड़ा तो सड़क बनाना भूले

भारतीय और चीनी सैनिक

इटानगर। डोकलाम मुद्दा अभी खत्म ही हुआ था कि चीन ने फिर से भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की हिमाकत की है। चीन का सड़क निर्माण दल भारत के अरुणाचल प्रदेश के तूतिंग इलाके में करीब एक किलोमीटर अंदर तक आ गया था। लेकिन जब भारतीय सुरक्षाबलों ने खदेड़ा तो यह चीनी दल अपने उपकरण छोड़कर भाग खड़े हुए। यह घटना पिछले हफ्ते घटी।





बुधवार को सरकारी सूत्रों ने कहा कि यह चीनी असैन्य दल मार्ग गतिविधियों के लिए आया था, पर भारतीय सैनिकों के कड़े विरोध के बाद वापस लौट गया। चीनी सड़क निर्माण दल अपने साथ खुदाई करने वाले उपकरण सहित सड़क बनाने में इस्तेमाल की जाने वाले कई उपकरण भी लेकर आए थे। जिसे वह वापस लौटते समय छोड़ गया। भारतीय सुरक्षा बलों ने चीनी दल के सारे उपकरणों को अपने कब्जे में ले लिया है।

अरुणाचल प्रदेश में स्थानीय ग्रामीणों के अनुसार तूतिंग क्षेत्र में बिसिंग गांव के समीप चीनी सैनिक सड़क निर्माण काम में लगे थे और इस पर भारतीय जवानों ने उन्हें रोका। जवानों के कड़े तेवर को देखते हुए चीनी दल ने फौरन जगह खाली कर भाग निकले। दरअसल, ग्रामीणों ने चीन की गतिविधियों के बारे में पुलिस को सूचना दी जिसने बिशिंग के पास मेडोग में तैनात ITBP को इसकी जानकारी दी। दोनों पक्षों में वाद-विवाद हुआ लेकिन चीनी दल ने मानने से इनकार कर दिया। तब भारतीय सेना को वहां भेजा गया जो अब तक उसी क्षेत्र में मुस्तैद है।

बता दें कि भारत-चीन सीमा की संबंधित क्षेत्रों की सुरक्षा की जिम्मादारी ITBP पर है, पर क्षेत्र में भारतीय सैनिकों की भारी संख्या में तैनाती की गई है।

रक्षक न्यूज की राय:

सहयोग, शांति, सह-अस्तित्व की अपील की तमाम कोशिशों के बाद भी चीन का रूख बदल नहीं रहा। पर स्थानीय नागरिकों की चौकसी, ITBP, भारतीय सेना की दखल के बाद चीन की सड़क बनाने वाली टीम को इस इलाके से हटना पड़ा। इन हालात में भारत को अत्यंत सतर्क रहने की जरूरत है।

Comments

Most Popular

To Top