DEFENCE

CAG करेगा राफेल लड़ाकू विमान सौदे का ऑडिट

दसॉल्ट राफेल

नई दिल्ली। नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) राफेल लड़ाकू विमान सौदे का ऑडिट करेगा। इस सौदे को लेकर विपक्ष लगातार सवाल उठाता रहा है। कांग्रेस का आरोप है कि मौजूदा सरकार ने राफेल सौदे पर यूपीए कार्यकाल में तय कीमत से कहीं ज्यादा दाम चुकाए हैं।





एक अखबार ने सूत्रों के हवाले से यह बताया है कि राफेल सौदे को CAG द्वारा ऑडिट किया जाना है लेकिन यह एक रूटीन ऑडिट है। हालांकि इसे पूरा करने के लिए कोई समय सीमा घोषित नहीं की गई है। उधर CAG के सूत्र बताते हैं कि किसी भी ऐसे सौदे का ऑडिट करना हमारी जिम्मेदारी है जिसमें देश का काफी पैसा लगा हो। राफेल सौदा भी इसी श्रेणी में शामिल है। लिहाजा इस सौदे का भी ऑडिट होगा।

उधर केन्द्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस सौदे पर कांग्रेस के उन आरोपों को निराधार बताया है जिसमें कहा गया है कि इस सौदे से देश को 40 हजार करोड़ का नुकसान होगा। उन्होंने स्पष्ट कहा कि अत्याधुनिक लड़ाकू विमान खरीदने में कोई गलत काम नहीं हुआ है।

गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना को अत्याधुनिक लड़ाकू विमानों से लैस करने के लिए फ्रांस के साथ यह सौदा तय हुआ है।

Comments

Most Popular

To Top