Army

जानिए असम रायफल्स (ASSAM RIFLES) के बारे में

Assam-riffles

असम रायफल्स को भारत की अर्धसैनिक बलों में से एक सबसे पुराना और महत्तवपूर्ण बल है। इसकी तैनाती भारत-म्यांमर सीमा पर है। इसके अलावा असम रायफल्स पूर्वोत्तर राज्यों की आंतरिक सुरक्षा से भी जुड़ी हुई है। यह गृह मंत्रालय के अधीन काम करता है।

असम रायफल्स का गठन: 1835





सक्रिय सैनिक: 66,411

आदर्श वाक्य: फ्रेंड्स ऑफ द हिल पीपुल एंड सेंटीनेल्स ऑफ नॉर्थ-ईस्ट

मुख्यालय: शिलांग

असम रायफल्स (ASSAM RIFLES) भारत के अर्धसैनिक बलों में सबसे पुराना और महत्वपूर्ण बल है। इसकी तैनाती भारत-म्यांमार सीमा पर है। असम रायफल्स पूर्वोत्तर राज्यों की आंतरिक सुरक्षा से भी जुड़ी हुई है। यह गृह मंत्रालय के अधीन काम करती है। यह बल पूर्वोत्तर राज्यों में हालात बिगड़ने की स्थिति में सेना के निर्देशन में भी काम करती है। उग्रवादियों से लड़ने के लिए असम रायफल्स को खासकर जाना जाता है। 1835 में जब असम रायफल्स का गठन हुआ था तब इसका नाम ‘कैचर लेवी’ था और बाद में 1883 में इसका नाम असम फ्रंटियर पुलिस, 1891 में असम मिलिट्री पुलिस, 1913 में ईस्टर्न बंगाल एंड असम मिलिट्री पुलिस और 1917 में इसका नाम असम रायफल्स रखा गया जो आज तक जारी है।

असम रायफल्स ने द्वितीय विश्व युद्ध में भी हम भूमिका निभाई थी खासकर वर्मा में। इस समय इसमें 48 बटालियन हैं जिसमें 66,411 सैनिक सक्रिय हैं।

Comments

Most Popular

To Top