Army

सेना के जवान औरंगजेब की मौत का बदला लेना चाहते हैं घाटी के ये 50 युवक

जवान औरंगजेब
शहीद जवान औरंगजेब (फाइल फोटो)

श्रीनगर। राइफल मैन औरंगजेब की हत्या का बदला लेने के लिए तकरीबन 50 युवा सऊदी अरब से नौकरी छोड़कर सेना और पुलिस में भर्ती होना चाहते हैं। गौरतलब है कि कश्मीर के पुलवामा में 14 जून को सेना के जवान औरंगजेब की हत्या कर दी गई थी। ये घटना दक्षिण कश्मीर के सलानी गांव में तब हुई थी जब यह जांबाज जवान छुट्टी लेकर ईद मनाने जा रहा था। हत्या के बाद मैथर में उनकी याद में हुई शोक सभा में तमाम लोग शामिल हुए थे।





खास बात यह है कि हत्या के बाद शोक में डूबे जवान औरंगजेब के वालिद मो. हनीफ ने खुद अपने बेटे की मौत का बदला लेने की बात कही थी। घटना के बाद से उनके परिजन अभी भी सदमे में हैं। इस घटना का दूर दूर तक असर हुआ था। सूत्रों के मुताबिक दो महीने बाद शहीद औरंगजेब के गांव सलानी में उनके करीब 50 दोस्त एकजूट हुए हैं जो खाड़ी देशों से अच्छी खासी पगार वाली नौकरियां छोड़कर लौटें हैं। इन नौजवानों से बातचीत के बाद ये बात सामने निकलकर आई है कि वे सेना और पुलिस में भर्ती होकर आतंकवादियों से अपने दोस्त की हत्या का बदला लेना चाहते हैं और घाटी से आतंकियों का सफाया करना चाहते हैं।

एक वेबसाइट की खबर के मुताबिक मोहम्मद किरामत और मोहम्मद ताज उन 50 युवाओं में शामिल हैं जो हाल ही में सऊदी अरब से अपनी नौकरी छोड़कर आए हैं। मोहम्मद किरामत बताते हैं कि जैसे ही भाई औरंगजेब की हत्या की खबर मिली, हमने उसी दिन नौकरी छोड़ दी और नौकरी हमने जबरदस्ती कर के छोड़ी। हमने जब यह मैसेज किया तो गांव के 50 युवक हमारे साथ आ गए। अब तो बस हमारा एक ही मकसद है औरंगजेब की मौत का बदला।

उल्लेखनीय है कि राइफलमैन औरंगजेब की हत्या के बाद से घाटी में इसी तरह से एक सीआरपीएफ जवान और दो पुलिसकर्मियों की हत्या हो चुकी है।

 

Comments

Most Popular

To Top