Army

सेना में लड़ाकू महिलाओं की भर्ती जल्द : जनरल बिपिन रावत

genral Bipin Rawat,Army chief

नई दिल्ली। भारतीय सेना दुश्मन से मुकाबला लेने के लिए जल्द ही एक महत्वपूर्ण कदम उठाने जा रही है। सेना में जल्द ही महिलाएं भी लड़ाकू सैनिकों की भूमिका में दुश्मन से मुकाबला करती नजर आएंगी। आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने हाल ही में ये ऐलान किया है। अगर ऐसा हुआ तो भारत में पहली बार महिलाएं युद्ध की स्थिति में सक्रिय भूमिका निभाएंगी, जबकि अन्य कुछ देशों में महिलाएं लिंग बाधा से आगे निकलकर सेना में लड़ाकू भूमिका निभाती नजर आ रही हैं।





कॉम्बेट रोल के लिए होगी महिलाओं की भर्ती

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि पुरुषों की ही तरह सेना में कॉम्बेट भूमिका के लिए महिलाओं काे भी अनुमति की प्रक्रिया तेजी से बढ़ रही है। शुरूआत में महिलाओं की भर्ती विभिन्न पदों पर की जाएगी। वर्तमान में महिलाओं को सेना के मेडिकल, सिग्नल और इंजीनियरिंग विंग सहित कुछ चुनिंदा क्षेत्रों में जाने की ही अनुमति होती है। सैन्य मुद्दों और आॅपरेशनल संबंधी चिंताओं के चलते अभी तक लड़ाई में अपना योगदान देने के लिए महिलाओं की भूमिका सीमित ही थी।

इंडियन आर्मी

ट्रेनिंग के दौरान वूमेन सोल्जर्स इंडियन आर्मी

महिलाओं को स्वीकारनी होंगी युद्धक चुनौतियां

सेना प्रमुख ने कहा कि वे महिला सैनिकों की भर्ती के लिए तैयार हैं और सरकार के समक्ष भी ये मामला उठाया गया है। जनरल रावत ने कहा कि हमने काफी पहले ही ये प्रक्रिया शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि हम जल्द ही महिलाओं को सेना की वर्दी में दुश्मन के दांत खट्टे करते देखेंगे, वहीं कॉम्बैट रोल में आने के लिए महिलाओं को भी युद्ध की चुनौतियों को देखते हुए दृढ़ता और मजबूती दिखानी होगी।

फाइटर पायलट भारतीय वायुसेना

फाइटर पायलट भारतीय वायुसेना – अवनि चतुर्वेदी, भावना कंठ और मोहना सिंह

इन क्षेत्रों में देंगी योगदान

महिलाओं को मिलिट्री पुलिस की भूमिका में सैनिक ओर कैंटोमेंट्स और सेना संस्थानों में शामिल करना, सैनिकों द्वारा नियमों के उल्लंघन को रोकने, शांति और युद्ध के दौरान सैनिकों की आवाजाही, युद्ध बंदियों को संभालना तथा आवश्यकता पड़ने पर पुलिस को सहायता प्रदान करना शामिल होंगे।

फाइटर पायलट भारतीय वायुसेना

फाइटर पायलट भारतीय वायुसेना – अवनि चतुर्वेदी, भावना कंठ और मोहना सिंह

इंडियन एयरफोर्स में भी शामिल की गई हैं वूमेन फाइटर पायलट

इतिहास रचते हुए भारतीय वायुसेना ने पिछले वर्ष तीन महिलाओं को फाइटर पायलट के तौर पर शामिल किया था। एक साल बाद ही प्रयोगात्मक आधार के बाद सरकार ने महिलाओं के लिए एक फाइटर स्ट्रीम शुरू करने का फैसला किया था। फाइटर पायलट के रूप में अवनि चतुर्वेदी, भावना कंठ और मोहना सिंह भारतीय वायु सेना में पहली बार शामिल हुई हैं, जो अब एक फाइटर स्क्वाड्रन का हिस्सा हैं। नौसेना भी जहाज पर महिलाओं को शामिल करने की नीति पर विचार कर रही है। अभी तक महिलाओं को नेवल आर्किटेक्चर लॉजिस्टक, कानूनी व इंजीनियरिंग विभागों में ही अनुमति होती है।

Comments

Most Popular

To Top