Army

Special Report: सैन्य कमांडर सम्मेलन में सुरक्षा खतरों पर होगी चर्चा

निर्मला सीतारमण
फाइल फोटो

नई दिल्ली। सुरक्षा खतरों से निबटने के उपायों पर यहां सोमवार को शुरू हो रहे थलसेना के छमाही कमांडर सम्मेलन में चर्चा की जाएगी। इस सम्मेलन का उद्घाटन रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी और थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत इसकी अध्यक्षता करेंगे। सम्मेलन में थलसेना के सीनियर कमांडर सुरक्षा खतरों पर अपने विचार और सुझावों को रखेंगे।





यहां थलसेना के प्रवक्ता कर्नल मोहित वैष्णव ने बताया कि सम्मेलन के दौरान सुरक्षा आयाम के प्रबंध, भावी सुरक्षा खतरों से निबटने के उपायों और सेना के ढांचे और संरचना और इसके पुनर्गठन के मसलों पर भी गहन चर्चा की जाएगी। इसके अलावा उत्तरी सीमाओं पर  थलसेना की मारक क्षमता बढ़ाने के लिये ढांचागत विकास, सामरिक रेलवे लाइन परियोजनाओं की समीक्षा भी की जाएगी। इसके साथ ही सीमित बजट के सक्षम इस्तेमाल, सीमा सड़क संगठन, गोला बारूद के  भंडार में कमी के अलावा सेना के संचालन और  प्रशासन और सैनिकों के कल्याण के मसलों पर भी चर्चा होगी। प्रवक्ता ने बताया कि विभिन्न मसलों पर नीतिगत फैसले लेने के लिये सेना के कमांडरों का सम्मेलन एक मौका प्रदान करता है।

Comments

Most Popular

To Top