Army

Special Report: भारत और अमेरिका युद्धाभ्यास- 2019 सम्पन्न

भारत और अमेरिकी सैनिक

नई दिल्ली।  भारत और अमेरिका के बीच साझा सैन्य अभ्यास युद्धाभ्यास-2019 वाशिंगटन के नजदीक  लेविस  मैकार्ड में एक पखवाड़े तक चलने के बाद बुधवार को सम्पन्न हो गया। यह युद्धाभ्यास 05 सितम्बर से शुरू हुआ था। भारत और अमेरिका के बीच होने वाले साझा सैन्य अभ्यासों में युद्धाभ्यास-2019 सबसे बड़े अभ्यासों में से है। दोनों देशों के बीच युद्धाभ्यास का यह 15 वां संस्करण  था। यह अभ्यास दोनों देशों में बारी बारी से साल में एक बार आयोजित होता है।





युद्धाभ्यास के जरिये भारत और अमेरिका के सैनिक बटालियन स्तर पर   एकीकृत तरीके से  साझा प्रशिक्षण लेते हैं। इसकी संयुक्त योजना ब्रिगेडियर स्तर पर बनाई जाती है। साझा अभ्यास के दौरान कई तरह के युद्ध माहौल  पेश  किये गए  ताकि एक दूसरे के संगठनात्मक ढांचे और  समाघात प्रक्रियाओं को समझ सकें। इससे दोनों देशों के बीच उच्चस्तर की एकजुटता पैदा होती है।  इससे दोनों देशों की सेनाओं के बीच आपसी तालमेल बेहतर करने में मदद मिलती है। इस अभ्यास के जरिये दोनों सेनाएं एक दूसरे के अनुभवों औऱ विशेषज्ञता से सीखती  हैं  ताकि सैन्य कार्रवाई की मिलकर तैयारी कर सकें।

अभ्यास के दौरान दोनों सेनाएं कई तरह के खतरों से मुकाबला करने के लिये संयुक्त तौर पर योजना  को  व्यवहार में लाया।  इस दौरान अकादमिक और सैनिक नजरिये से भी दोनों सैन्य अधिकारियों ने चर्चा की।

इस अभ्यास में भारतीय सेना की असम रेजिमेंट के जवानों ने भाग लिया जब कि अमेरिकी सेना की ओर से  इनफेन्ट्री बटालियन के जवानों ने भाग लिया।

साझा युद्धाभ्यास के समापन पर आयोजित समारोह  से दोनों देशों के बीच नजदीकी सौहार्दपूर्ण रिश्तों का प्रदर्शन हुआ।

Comments

Most Popular

To Top