Army

रिटायर्ड कर्नल के घर से मिले दो लाख कारतूस, नेशनल शूटर बेटा निकला स्मगलर

रिटायर्ड कर्नल

मेरठ। पंजाब में 1984 में ऑपरेशन ब्लू स्टार के वेटरन सेना के रिटायर्ड कर्नल के घर पर करीब 17 घंटे चली छापेमारी में भारी संख्या में गैरकानूनी हथियार कारतूस, प्रतिबंधित वन्य जीवों की खालें, नीलगाय का 117 किलो मांस और हाथी दांत बरामद किए गए हैं। इसके अलावा हिरण की खोपड़ियां और एक करोड़ रुपये कैश भी मिला है। बरामद कारतूस की संख्या दो लाख बताई जा रही है। इनमें से 50 हजार कारतूस मेरठ से और बाक़ी दिल्ली से बरामद किए गए हैं। कर्नल ने इस मामले से अपना पल्ला झाड़ते हुए अपने बेटे को इस सबका जिम्मेदार बताया है। उसका बेटा प्रशांत विश्नोई नेशनल शूटर है। वह हमेशा सेना की वर्दी में रहता था। पिता-पुत्र के खिलाफ वन्य जीव अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है। प्रशांत फरार बताया गया है।





रिटायर्ड कर्नल

रिटायर्ड कर्नल देवेन्द्र कुमार

एक सूचना पर डायरेक्ट्रेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) और वन विभाग को टीम ने शनिवार सुबह 11 बजे मेरठ के सिविल लाइंस स्थित रिटायर्ड कर्नल देवेंद्र कुमार के बंगले पर छापेमारी की। यह कार्रवाई अगले दिन तड़के साढ़े तीन बजे तक चली।  इस कार्रवाई में अत्याधुनिक और विदेशी 44 बंदूकें, 50 हजार कारतूत, हिरण की नौ खोपड़ियां (इसमें चिंकारा और काला हिरण भी शामिल है), इनकी खालें, चीते की खालें, बारहसिंघे की खोपड़ियां, वन्य जीवों के दांत, हाथी दांत के हैंडल वाला एक चाकू बरामद किया गया है। नीलगाय के बरामद 117.5 किलो मांस में 45 पैकेट फ्रीजर में रखे गए थे।

प्रशांत विश्नोई

रिटायर्ड कर्नल देवेन्द्र और उनके बेटे प्रशांत विश्नोई का मेरठ स्थित मकान

रिटायर्ड कर्नल

रिटायर्ड कर्नल के घर से बरामद वन्यजीवों की खालें

बरामद दस्तावेजों से आशंका है कि प्रशांत वन्य जीवों के अंगों की ऑनलाइन डीलिंग भी करता था। एक कम्यूटर भी जब्त किया गया है जिसमें काफी ईमेल और मोबाइल नंबर मिले हैं। DRI अफसरों का मानना है कि यह अंतरराष्ट्रीय रैकेट है। प्रशांत DRI के निशाने पर तब से है जब दिल्ली एयरपोर्ट पर तीन विदेशियों को गिरफ्तार किया गया था।

रिटायर्ड कर्नल

रिटायर्ड कर्नल के घर से बरामद हथियार

प्रशांत विश्नोई

प्रशांत विश्नोई

हथियारों और वन्यजीवों की खालों का तस्कर प्रशांत विश्नोई (फ़ाइल फोटो)

प्रशांत विश्नोई

हथियारों और वन्यजीवों की खालों का तस्कर प्रशांत विश्नोई शूटिंग रेंज में (फ़ाइल फोटो)

रिटायर्ड कर्नल

रिटायर्ड कर्नल का बेटा प्रशांत विश्नोई (फाइल फोटो)

नेशनल शूटर प्रशांत ईंट-भट्ठे का काम भी कर चुका है। नुकसान हुआ तो बंद कर दिया। बरेली में उसका एक कालेज भी बताया जाता है। वह अपने बहनोई के साथ एक सिक्यूरिटी एजेंसी भी चलाता है। इसके लिए उसे यूपी सरकार से 90 करोड़ का ठेका भी मिला था। उसकी कई कैश वैन भी हैं, जिनसे एटीएम में कैश लोड किया जाता है। वह हथियारों और कारों का शौकीन है, इसका अंदाजा इसी से लगता है कि उसके पास लग्जरी कारों समेत कम से कम 8 कारें हैं और परिवार के हर सदस्य के नाम हथियार का लाइसेंस बताया जाता है। प्रशांत ने रायफल का लाइसेंस 8 साल पहले मेरठ से लिया था जो अब दिल्ली ट्रांसफर करा लिया गया।

Comments

Most Popular

To Top