Army

देहरा गोपीपुर का सीना चौड़ा, पहला फ़ौजी बना ले. जनरल

ले. जनरल जगदीप कुमार शर्मा

धर्मशाला। कांगड़ा जिला के नेहरां पुखर देहरा गोपीपुर के रहने वाले जगदीप कुमार शर्मा (जेके शर्मा) को सेना में लेफ्टिनेंट जनरल बनने का गौरव प्राप्त हुआ है। जगदीप कुमार शर्मा देहरा गोपीपुर से पहले सैन्याधिकारी हैं जिन्हें सेना के वरिष्ठ सैन्याधिकारी के रूप में तीन सितारों से सुशोभित ले. जनरल रैंक का पद प्राप्त हुआ है।





मध्य कमान मुख्यालय लखनऊ की जनसम्पर्क अधिकारी गार्गी सिन्हा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि ले. जनरल जगदीप कुमार शर्मा ने अभी हाल ही में मध्य कमान के चीफ ऑफ स्टाफ (CoS) का पदभार संभाला है। विदित है कि मध्य कमान भारतीय सेना की सबसे बड़ी एवं सामरिक दृष्टिकोण से एक महत्वपूर्ण कमान है।

  • जगदीप कुमार शर्मा देहरा गोपीपुर से पहले सैन्याधिकारी हैं जिन्हें सेना के वरिष्ठ सैन्याधिकारी के रूप में तीन सितारों से सुशोभित ले. जनरल रैंक का पद प्राप्त

उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला एक बड़ा सैन्य भर्ती बेस है और ले. जनरल शर्मा को मध्य कमान के चीफ ऑफ स्टाफ के रूप में तैनाती इस क्षेत्र के लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि एक साधारण व विनम्र परिवार से ताल्लुक रखने वाले ले. जनरल शर्मा ने मैकेनाइज्ड इंफैन्ट्री रेजिमेंट की नौवीं बटालियन में जून 1982 को कमीशन प्राप्त किया था। दिसंबर 2002 से मई 2005 तक स्ट्राइक कोर में इसी बटालियन की कमान संभाल चुके हैं।

गार्गी सिन्हा ने बताया कि ले. जनरल जगदीप कुमार शर्मा ने अपने सैन्य सेवा के दौरान विभिन्न सैन्य ऑपरेशनों ऑपरेशन विजय, ऑपरेशन मेघदूत, ऑपरशेन त्रिशूल शक्ति, ऑपरेशन आर्किड एवं ऑपरेशन पराक्रम में उन्होंने सफलतापूर्वक हिस्सा लिया है। ले. जनरल शर्मा ने सेना के कई व्यावसायिक पाठ्यक्रमों को सफलतापूर्वक पूरा किया है जिसमें दिल्ली स्थित नेशनल डिफेंस कॉलेज से किये गये सैन्य पाठ्क्रम भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि अपने 35 वर्षों की सैन्य सेवा के दौरान ले. जनरल शर्मा विभिन्न कमान एवं अनुदेशकीय पदों पर रहे हैं।

  • ऑपरेशन विजय, ऑपरेशन मेघदूत, ऑपरशेन त्रिशूल शक्ति, ऑपरेशन आर्किड एवं ऑपरेशन पराक्रम में उन्होंने सफलतापूर्वक हिस्सा लिया

वर्तमान पदभार संभालने से पहले ले. जनरल जगदीप कुमार शर्मा मिलिट्री ऑपरेशन महानिदेशालय में मिलिट्री ऑपरेशन (इंफार्मेशन वारफेयर) के अपर महानिदेशक के पद पर तैनात थे। वह अध्ययन में रुचि रखते हैं तथा साहसिक अभियानों के शौकीन हैं। जगदीप कुमार शर्मा न केवल सैन्य कर्मियों के लिए बल्कि कांगड़ा जिले के युवाओं के लिए भी एक प्रेरणा स्रोत हैं जो युवाओं को सेना में अपना कॅरियर बनाने के लिए प्रेरित करने का माध्यम बन गये हैं।

Comments

Most Popular

To Top