Army

पाकिस्तान का एक और झूठ पकड़ा गया

भारतीय सेना

इस्लामाबाद। पाकिस्तान सेना ने भारतीय सेना पर संयुक्त राष्ट्र (यूएन) सैन्य पर्यवेक्षकों की गाड़ी पर गोलीबारी करने का आरोप लगाया है। लेकिन उसका यह आरोप भी झूठा साबित हो गया है। संयुक्त राष्ट्र ने इसका खंडन किया है।





पाकिस्तान सेना के इस बयान को खारिज करते हुए यूएन के प्रवक्ता स्टीफन डुजेरिक ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं हुई, ना ही हमले के कोई सबूत मिले हैं। संयुक्त राष्ट्र के सैन्य पर्यवेक्षकों ने फायरिंग की आवाज जरूर सुनी, लेकिन इससे कोई नुकसान नहीं हुआ ।

बीबीसी के अनुसार, पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा के खंजर सेक्टर में संयुक्त राष्ट्र सैन्य पर्यवेक्षकों की गाड़ी को निशाना बनाया।

बयान के अनुसार, इस गाड़ी में संयुक्त राष्ट्र के दो अधिकारी सवार थे जिनमें एक फ़िलीपींस के मेजर इमैनुएल और क्रोएशिया के मेजर मरको थे। गाड़ी पर संयुक्त राष्ट्र का झंडा भी लगा हुआ था। पाकिस्तान की सेना ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र के दोनों अधिकारी सुरक्षित हैं।

विदित हो कि पिछले कुछ समय से भारत पाकिस्तान एक दूसरे पर नियंत्रण रेखा पर फ़ायरिंग कर संघर्ष विराम के उल्लंघन के आरोप लगाते रहे हैं। पिछले दिनों भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा पर नौशेरा सेक्टर क्षेत्र में पाकिस्तानी सेना की एक चौकी नष्ट करने का दावा किया था। लेकिन पाकिस्तान ने उसे खारिज कर दिया था।

Comments

Most Popular

To Top