Army

शहीद जवानों के साथ पाकिस्तान ने की बर्बरता, सेना ने कहा- देंगे माकूल जवाब

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत

श्रीनगर। पुंछ जिले की कृष्णा घाटी में पाकिस्तान ने सोमवार सुबह न सिर्फ सीजफायर तोड़ा बल्कि एक बेहद शर्मनाक हरकत भी की है। सेना के दोनों शहीद सैनिकों के क्षत-विक्षत शव मिले हैं। सेना ने कहा कि पाकिस्तान की यह करतूत मानवता को शर्मसार कर देने वाली है। सेना ने साथ ही चेतावनी भी दी है कि इस घटना का माकूल जवाब दिया जाएगा।





उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान ने सोमवार सुबह संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए पुंछ जिले की कृष्णा घाटी सेक्टर में बड़े हथियारों के साथ गोलाबारी की। पाकिस्तान रेंजरों ने रॉकेट लॉन्चरों के साथ कृष्णा घाटी पर हमला कर एक भारतीय चौकी को निशाना बनाया, जिसमें बीएसएफ तथा सेना का एक-एक जवान शहीद हो गया जबकि अन्य तीन जवान गम्भीर रूप से घायल हो गए जिन्हें उपचार के लिए आर्मी अस्पताल में भेजा गया है। शहीदों में सेना के जेसीओ (JCO) नायब सूबेदार परमजीत सिंह और बीएसएफ की 200वीं बटालियन के हवलदार प्रेम सागर हैं। परमजीत सिंह पंजाब के तरन तारण के और प्रेम सागर यूपी के देवरिया के रहने वाले थे। यह जानकारी सेना के नार्दर्न कमांड ने एक विज्ञप्ति के जरिए दी।

सीजफायर का उल्लंघन

नायब सूबेदार परमजीत सिंह की फ़ाइल फोटो

सीजफायर का उल्लंघन

पाकिस्तान की फायरिंग में शहीद कांस्टेबल प्रेम सागर की फ़ाइल फोटो

पाकिस्तान के आर्मी चीफ ने रविवार को किया था LOC का दौरा 

गौरतलब है कि पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने रविवार को ही नियंत्रण रेखा (LOC) का दौरा किया था। यहाँ उन्होंने कहा था कि उनका देश कश्मीरियों के आत्मनिर्णय के अधिकार के लिए किए जा रहे ‘राजनीतिक संघर्ष’ को समर्थन देता रहेगा। …और बाजवा के दौरे के अगले ही दिन पाकिस्तान ने सीज फायर का उल्लंघन कर दिया।

जम्मू-कश्मीर में बिगड़ते हालात और सुकमा नक्सली हमले को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर बैठक

राजनाथ सिंह

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को सुकमा और कश्मीर मुद्दे पर उच्चस्तरीय बैठक की

इस बीच जम्मू-कश्मीर में बिगड़ते हालात और सुकमा नक्सली हमले को लेकर आज गृहमंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर सुरक्षा पर उच्च स्तरीय बैठक बुलाई गई। बैठक में जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था और सुकमा हमले पर गंभीर चर्चा हुई। इस बैठक में गृह सचिव, सीआरपीएफ के महानिदेशक, आईबी के चीफ और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल शामिल मौजूद थे।

छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान मारे गए थे, जिसके बाद गृह मंत्रालय ने आपात बैठक बुलाई थी। सरकार अब नक्सलियों को उनके ही इलाके में घुसकर जवाब देने पर विचार कर सकती है।

वहीं दूसरी तरफ कश्मीर में जारी हालात को लेकर भी सरकार बेहद चिंतित है। हाल ही में जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती दिल्ली आई थीं, जहां उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री के साथ मुलाकात की थी। गृह मंत्री से मुलाकात के बाद मुफ्ती ने कहा था कि अगले 2 से 3 महीनों में घाटी के हालात सामान्य हो जाएंगे। हिजबुल मुजाहिदीन ने कमांडर बुरहान वानी की मुठभेड़ में हुई मौत के बाद से घाटी में हालात बेहत तनावपूर्ण है। हाल ही में श्रीनगर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में हुई हिंसा में 8 लोग मारे गए हैं और इसके बाद घाटी में पत्थरबाजी की घटनाओं में भी बढ़ोतरी हुई है। हिंसा की वजह से चुनाव आयोग अनंतनाग सीट पर होने वाले उपचुनाव को टाल चुकी है। बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिये गए है।

Comments

Most Popular

To Top