Army

ऑपरेशन सिंधु सुदर्शन: इस युद्धाभ्यास में सेना ने पहली बार ‘शूटर ग्रिड सेंसर’ का किया इस्तेमाल

ऑपरेशन सिंधु सुदर्शन

नई दिल्ली। भारत को पाकिस्तान चाहे जितना गीदड़भभकी दे ले लेकिन भारत की सैन्य क्षमता के आगे कहीं नहीं टिक सकेगा। इसी सिलसिले में भारतीय सेना ने अपनी मारक क्षमता को मजबूत करने का एक और उदाहरण पेश किया है। बता दें कि भारत सेना की सबसे ताकतवर 21 स्ट्राइक कोर पाकिस्तान की सीमा के नजदीक युद्धाभ्यास में जुटी है। जिसमें सेना के 40 हजार जवान ‘ऑपरेशन सिंधु सुदर्शन चक्र’ के तहत अभ्यास कर रहे हैं। पहली बार इस युद्धाभ्यास में सेना शूटर ग्रिड सेंसर का इस्तेमाल कर रही है। यह अभ्यास पाकिस्तान की सीमा से सटे बाड़मेर जिले में किया जा रहा है।





सिंधु सुदर्शन चक्र ऑपरेशन में लगातार 12 घंटे तक युद्ध लड़ने की क्षमता को मैदान मे परखा जाएगा। युद्धाभ्यास के दौरान मैकेनाइज्ड फोर्स पहली बार शूटर ग्रिड सेंसर का इस्तेमाल करने जा रही है। इसके तहत युद्ध क्षेत्र में इजराइली यूएवी हेरोन, हेलिकॉप्टर और सैटेलाइट से टारगेट को ग्रिड की तस्वीरें भेजी जाएगी।

गौरतलब है कि युद्धाभ्यास में आर्मर्ड, मैकेनाइज्ड इनफेंट्री, इनफेंट्री, आर्टिलरी, आर्मी एयर डिफेंस, आर्मी एविएशन के अटैक हेलिकॉप्टर, वायुसेना के संसाधनों तथा स्पेशल फोर्स का खास तौर पर प्रदर्शन किया जाएगा।

Comments

Most Popular

To Top