Army

बिहार: इंडियन आर्मी बाढ़ प्रभावित इलाकों में मदद को पहुंची

बिहार में बाढ़

पटना। बिहार के सीमांचल में बाढ़ की स्थिति बिगड़ती जा रही है। अररिया, किशनगंज, कटिहार और दरभंगा सहित दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। राज्य की गंभीर स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार ने सेना की मदद मांगी है।निवासी घर-बार छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर शरण ले रहे हैं।





बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह के मुताबिक दानापुर और रांची आर्मी बेस से सैन्य टीमें बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पर पहुंचाने के लिए प्रभावित स्थानों इलाकों में कूच करने निकल पड़ी हैं। कैप्टन अमृतपाल सिंह के नेतृत्व में दानापुर के बिहार रेजिमेंट सेंटर से 80 जवानों की टीम के जवान व अधिकारी तुरंत किशनगंज रवाना हो गए।

मुख्यमंत्री ने मांगी सेना-वायुसेना की मदद

बाढ़ से बिगड़ते हालात को देखते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा मंत्री अरुण जेटली से सेना और वायुसेना की मदद मांगी है साथ ही एनडीआरएफ की 10 टुकड़ियां उत्तर बिहार में भेजने की मांग की है।

भयावह हुई स्थिति, 35 लाख आबादी प्रभावित

मुख्य सचिव के मुताबिक अररिया व पूर्णिया के इलाकों में टीम बचावकार्य में जुट गईं हैं। आपको बता दें बीते 24 घंटे से उत्तर बिहार में हो रही तेज बारिश व नेपाल से छोड़े गए पानी के कारण बाढ़ की स्थिति भयावह हो गई है। दर्जनों पंचायतों का जिला मुख्यालय का संपर्क दूसरे जिलों से कट गया है। कमला बालन नदी में उफान के कारण घनश्यामपुर के कई गांव की हालत नाजुक बताई जा रही है।

उत्तर बिहार की 40 प्रखंडों की तकरीबन 35 लाख की आबादी बाढ़ से प्रभावित है। वहीं लगातार बारिश से उफान पर आई गंडक के कारण बाल्मीकि गंडक बैराज से रविवार को 3.80 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से स्थिति और भी विकराल हो गई है।

Comments

Most Popular

To Top