Army

जनरल पहुंचे LoC, सेना के काफिले पर बड़ा आतंकी हमला, दो जवान शहीद, 4 जख्मी

श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर में श्रीनगर-जम्मू हाइवे पर आज सुबह अचानक आतंकवादियों ने सेना के काफिले पर हमला कर दिया। इस हमले में घायल हुए 6 जवानों को तुरंत पास के जिला अस्पताल में उपचार के लिए भेजा गया है जहां दो सैनिकों ने दम तोड़ दिया। एक और जवान की हालत नाजुक बताई जा रही है। शहीद जवान हैं ग्रेनेडियर मणिवन्नांग  और नायक दीपक मैती। हमले के तुरंत बाद अतिरिक्त सैन्य बल मौके पर रवाना कर दिया गया। उधर, पाकिस्तानी जवान पुंछ के शाहपुर में नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए भारी गोलीबारी कर रहे हैं।





सेना का काफिला जम्मू से श्रीनगर जा रहा था तभी आतंकियों ने काजीगुंड के पास अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। यह हाईवे हमेशा आतंकियों के निशाने पर रहता है। सेना ने पूरे क्षेत्र की घेराबंदी कर बच निकले आतंकियों की धर पकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक़ सेना के वाहन पर काजीगुंड में हिलार पर यह हमला हुआ। यह जगह श्रीनगर से दक्षिण में 70 किमी दूर है। इससे पहले खुफिया एजेंसियों ने खबर दी थी कि आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा जम्मू-कश्मीर और पंजाब में किसी बड़े हमले की फिराक में है।

श्रीनगर-जम्मू हाइवे

श्रीनगर-जम्मू हाइवे पर इसी जगह आतंकवादियों ने सेना के काफिले पर हमला किया

 

जनरल बिपिन रावत

जनरल बिपिन रावत ने शनिवार को नियंत्रण रेखा का दौरा कर हालात की समीक्षा की

जनरल बिपिन रावत

जनरल बिपिन रावत ने शनिवार को नियंत्रण रेखा पर सेना की इकाइयों का दौरा किया और अफसरों-जवानों से बात की

यह हमला तब हुआ है जब आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत जम्मू-कश्मीर के दौरे पर हैं और कल रात उन्होंने राजभवन में राज्यपाल एनएन वोहरा से मुलाक़ात की। इस दौरान जनरल ने राज्य में आतंरिक और बाहरी सुरक्षा मसलों पर चर्चा की। इससे पहले जनरल ने घाटी में दो दिन तक सुरक्षा समीक्षा कर संचालनात्मक तैयारियों का जायजा लिया। राज्यपाल ने राज्य के युवाओं के लिए भविष्य के अवसरों पर भी बातचीत की।

  • हिजबुल मुजाहिदीन ने ली आतंकी हमले की जिम्मेदारी

काजीगुन्ड इलाके में श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर लोवर मुंडा टोल पोस्ट के पास सेना के काफिले पर हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन ने ली है। हिजबुल के ऑपरेशनल प्रवक्ता बुरहानुद्दीन ने कहा कि हमले को संगठन के विशेष दस्ते ने अंजाम दिया। हमले में कम से कम चार सैनिकों की मौत हो गई, जबकि सात अन्य घायल हो गए हैं। प्रवक्ता ने कहा कि फील्ड ऑपरेशनल कमांडर महमूद गजनवी ने दस्ते में शामिल आतंकियों को नकद पुरस्कार देने का फैसला लिया है। साथ ही भविष्य में भी घाटी के हर कोने में इस तरह के हमले जारी रहेंगे।

  • फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक नागरिक घायल

दूसरी तरफ, पाकिस्तान लगातार सीमापार से संघर्ष विराम का उल्लंघन जारी रखे हुए है। इसी के चलते एक बार फिर सीमा पर गोलीबारी की गई है। पाकिस्तानी जवान पुंछ के शाहपुर में नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए भारी गोलीबारी कर रहे हैं। इस गोलीबारी में एक नागरिक घायल हो गया है।  गोलीबारी से पूरे क्षेत्र में डर का माहौल व्याप्त है। भारतीय जवान भी पाकिस्तानी गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं।

सूत्रों के अनुसार पाक की तरफ से शुक्रवार देर रात से ही मोर्टार दागे गए और भारी गोलीबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया। गुरुवार को भी पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया था। पाकिस्तान ने गुरुवार को कृष्णा घाटी और मनकोट में भारी गोलीबारी की थी। इस दौरान सेना का एक ग्रैफकर्मी शहीद हो गया और सुरक्षाबल के एक जवान समेंत पांच लोग घायल हो गए थे और घायलों में से एक ने शुक्रवार को राजौरी अस्पताल में दम तोड़ दिया था।

घाटी में एक बार फिर मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल

कश्मीर घाटी में शुक्रवार देर रात छह दिनों के बाद मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल कर दी गई। बीते शनिवार को पुलवामा जिला के त्राल कस्बे में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल कमांडर सबजार बट के मारे जाने के बाद प्रदर्शनों को मद्देनजर रखते हुए मोबाइल नेटवर्क तथा इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया था।

इसी बीच प्रीपेड मोबाइल कनेक्शनों पर आउटगोइंग सेवाओं को भी बहाल कर दिया गया। प्रशासन को डर था कि शरारती तत्व सबजर की मौत का प्रयोग घाटी में फिर से माहौल को खराब करने के लिए कर सकते हैं। ऐसे में मोबाइल नेटवर्क और इंटरनेट का सहारा लिया जाता है और इसी के मद्देनजर एहतियात के तौर पर मोबाइल सेवाओं को बंद किया गया था।

Comments

Most Popular

To Top