Army

खौफनाक…! सहायक सिस्टम का विरोध करने वाला जवान हमेशा के लिए खामोश

रॉय मैथ्यू

नासिक: सेना में सहायक प्रथा की आलोचना की शुरुआत करने वाले वीडियो में दिखाई दिए गनर रॉय मैथ्यू की रहस्यमय हालात में मौत हो गई है। मैथ्यू का शव महाराष्ट्र की देवलाली छावनी की एक सुनसान बैरक में छत से लटका मिला। शव, सड़ी-गली अवस्था में था और डाक्टरों का ये अंदाजा है कि रॉय मैथ्यू की मौत तीन दिन पहले हुई होगी।





तैतीस बरस का रॉय मैथ्यू 13 साल से सेना की नौकरी कर रहा था। वे उन जवानों में से एक था जिन्हें सैन्य अधिकारियों के बच्चों को स्कूल ले जाने और कुत्ते को घुमाने जैसे काम करते वीडियो में दिखाया गया था। स्टिंग ऑपरेशन के तहत बनाए गए इस वीडियो के सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद सेना की उस सहायक प्रथा की जबरदस्त आलोचना होने लगी थी जो प्रथा अंग्रेजों के शासन काल में शुरू में हुई थी।

वीडियो वायरल होने पर सेना ने जांच शुरू की थी और जांच के दायरे में रॉय मैथ्यू भी था जो 25 फरवरी से लापता बताया गया। रॉय मैथ्यू देवलाली छावनी में तैनात कर्नल रैंक के उस अधिकारी का मातहत था जो आर्टिलरी सेंटर में तैनात हैं। रॉय मैथ्यू 214 रॉकेट रेजीमेंट, नासिक में तैनात था। 24 फरवरी को वीडियो वायरल होने के फौरन बाद मैथ्यू से कई अधिकारियों ने पूछताछ भी की थी जिसके बाद वो काफी दबाव में था। इसके बाद से ही वो गायब था और सैन्य अधिकारी इसे बिना इजाजत छुट्टी (AWOL) पर जाने का मामला मान रहे थे।

पुलिस सूत्रों का कहना है कि जांच के दौरान पता लगाया जाएगा कि ये हत्या है या आत्महत्या। साथ ही यह भी जानकारी जुटाई जा रही है कि क्या राम मैथ्यू को किसी तरह की यातनाएं तो नहीं दी गईं?

रॉय मैथ्यू केरल के कोल्लम का रहने वाला था और रविवार को उसने अपनी पत्नी से फोन पर ‘गलती होने’ की बात कबूली थी। संभवत: वो ये बात स्थानीय मराठी टीवी चैनल को दिए उस इंटरव्यू के संदर्भ में कह रहा था जिसमें उसने नासिक कैम्प में वरिष्ठ अधिकारियों के गलत बर्ताव का जिक्र किया था। मराठी चैनल पर उसका इंटरव्यू सोमवार को प्रसारित हुआ था। रॉय मैथ्यू की पत्नी फिनी मैथ्यू का कहना था कि टीवी चैनल के लोगों ने रॉय से उसकी पहचान न बताए जाने का वादा किया था। तीन दिन से रॉय पत्नी के सम्पर्क में नहीं था।

रॉय मैथ्यू के भाई जॉन मैथ्यू के मुताबिक कमांडिंग अधिकारी (CO) ने सूचना दी थी कि रॉय मैथ्यू से मिलते-जुलते हुलिए वाले शख्स का शव मिला है और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

रॉय मैथ्यू के परिवार वालों के मुताबिक वो अक्सर शिकायत करता था कि बड़े अफसर गुलामों की तरह मातहतो से बर्ताव करते हैं और घरेलू काम कराते हैं। रॉय ने पत्नी को ये भी कहा कि उसके कुछ साथी ऐसे काम करने में खुश रहते हैं लेकिन उसे ऐसे काम करने से नफरत है।

रॉय मैथ्यू की पत्नी ने मुख्यमंत्री पिनारई विजयन से इस मुद्दे पर दखल देने की प्रार्थना की है। रॉय 3 दिसंबर को घर गया था और 23 दिसंबर को नासिक लौटा था।

बीएसएफ और सीआरपीएफ के जवान ने वीडियो जारी किया था

तेजबहादुर सिंह यादव: इसी साल जनवरी में कश्मीर में तैनात सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान तेज बहादुर सिंह यादव का खाने की गुणवत्ता को लेकर वीडियो में अधिकारियों पर राशन बेचने का आरोप लगाया था।

कमांडो सुजाय मण्डल: केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की कोबरा बटालियन में तैनात कमांडो सुजाय मण्डल का वीडियो भी जनवरी में ही वायरल हुआ। उन्होंने जवानों की परिशानियां बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से रो-रोकर पुछा है आखिर कब आएंगे जवानों के अच्छे दिन?

अमरदीप: 17 जनवरी को मध्य प्रदेश के बड़वाह में तैनात सीआईएसएफ के जवान अमरदीप का वीडियो भी वायरल हुआ, जिसमें अमरदीप को एक शख्स चांटा मारता नजर आ रहा है। अमरदीप की पत्नी के मुताबिक, चांटा मारने वाला शख्स फोर्स का डिप्टी कमांडेंट है। उसने ये भी इल्जाम लगाया कि घटना की शिकायत करने के बाद से मेरे पति को लगातार टॉर्चर किया जा रहा है। अफसर मेरे पति को पागल साबित करने की कोशिश कर रहे हैं।

यज्ञ प्रताप सिंह: देहरादून में तैनात सेना के लांस नायक यज्ञ प्रताप सिंह ने अपने बड़े अफसरों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। उनके मुताबिक, पिछले साल 15 जून को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अधिकारियों द्वारा जवानों के शोषण को लेकर एक चिट्ठी लिखी थी। बाद में जब यह बात अधिकारियों को पता चली तो उसको काफी डांटा-फटकारा गया। उसने इस मामले पर कोर्ट मार्शल की भी आशंका जाहिर की थी।

Comments

Most Popular

To Top