Army

पहली बार : सेना के चार जवानों ने बिना सप्लीमेंट्री आॅक्सीजन फतह किया एवरेस्ट

इंडियन आर्मी

भारतीय सेना के जवानों ने बिना आॅक्सीजन सिलेंडर के दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट (8848 मी.) को फतह कर नया कीर्तिमान स्थापित किया है। ऐसा पहली बार हुआ है, जब पर्वतारोहियों की एक टीम ने बिना आॅक्सीजन सिलेंडर के इस चोटी को फतह किया हो।





  • हम इतिहास बनाना चाहते थे

स्नो लॉयन एवरेस्ट एक्सपेडिशन-2017 के लीडर कर्नल विशाल दूबे के अनुसार, हमने आॅक्सीजन सिलेंडर बगैर एवरेस्ट फतह करने के लिए 10 लोगों की टीम बनाई थी। इनमें से चार सदस्य बिना आॅक्सीजन के शिखर पर पहुंचने में कामयाब रहे। 14 पर्वतारोहियों के इस दल में उर्गिन तोपग्ये, एंगवांग गेलेक और कर्मा जोपा सप्लीमेंट्री आॅक्सीजन के साथ एवरेस्ट पर पहुंचे। वहीं, कुंचोक तेंदा, कैलशांग दोर्जी भूटिया, कालदेन पांजुर और सोनम फुंत्सोक ने यहां पहुंचने के लिए आॅक्सीजन सिलेंडर का इस्तेमाल नहीं किया।

माउंट एवरेस्ट

माउंट एवरेस्ट

21 मई को रवाना हुआ था दल

कर्नल विशाल के मुताबिक, हमारी टीम ने कोशिश की और इतिहास बना डाला। पहली बार किसी टीम ने बगैर आॅक्सीजन एवरेस्ट फतह की है। भारतीय सेना की इस टीम के साथ छह शेरपा भी गए थे लेकिन उन्होंने आॅक्सीजन सिलेंडर का इस्तेमाल किया। ये टीम 21 मई को एवरेस्ट पर पहुंची थी और शुक्रवार  (2 जून) को लौट आई।

  • अब तक चार हजार लोगों ने छुआ है एवरेस्ट का शिखर

अभी तक 4,000 लोग एवरेस्ट फतह कर चुके हैं लेकिन व्यक्तिगत तौर पर इससे पहले 187 लोग ही बिना आॅक्सीजन शिखर तक पहुंच पाए हैं और सेना का चार सदस्यीय ये दल ऐसा करने वाला पहला दल बन गया है।

Comments

Most Popular

To Top