Army

भारतीय सेना ने म्यांमार की सीमा पर की बड़ी कार्रवाई, 10 उग्रवादी कैंप को किया तबाह

भारतीय सेना का उग्रवादियों पर सर्जिकल स्ट्राइक
फोटो सौजन्य- गूगल

नई दिल्ली। पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायुसेना द्वारा एयर स्ट्राइक के बाद अब अब भारत ने पूर्वोत्तर में दुश्मनों के खिलाफ मोर्चेबंदी शुरू कर दी है। भारतीय सेना ने म्यांमार की सेना के साथ मिलकर भारत-म्यांमार सीमा पर स्थित उग्रवादियों के कई कैंपों को तबाह कर दिया। सेना ने यह स्ट्राइक एक मेगा इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट पर हमले के षड्यंत्र को नाकाम करने के लिए की।





भारतीय सेना ने म्यांमार की सेना के साथ मिलकर चलाए गए एक अभियान में म्यांमार सीमा पर एक उग्रवादी समूह से संबंधित 10 शिविरों को नष्ट कर दिया। इस ऑपरेशन को ऑपरेशन सनराइज का नाम दिया गया जिसमें चीन द्वारा समर्थित कचिन इंडिपेंडेंट आर्मी के एक उग्रवादी संगठन, अराकान आर्मी को निशाना बनाया गया। सूत्रों के मुतबिक शिविरों को म्यांमार के भीतर नष्ट किया गया। यह अभियान 10 दिनों में पूरा किया गया।

भारतीय सेना ने म्यांमार को अभियान के लिए हार्डवेयर और उपकरण मुहैया कराए, जबकि इसने सीमा पर बड़ी तदाद में बलों को तैनात किया। यह ऑपरेशन इस बात की जानकारी मिलने के बाद चलाया गया कि उग्रवादी कोलकाता को समुद्र मार्ग के जरिए म्यांमार के सितवे से जोड़ने वाली विशाल अवसंरचना परियोजना निशाना बना रहे हैं। यह प्रोजेक्ट कोलकाता से सितवे के रास्ते मिजोरम पहुंचने के लिए एक अलग मार्ग मुहैया कराने वाली है। साल 2020 में यह प्रोजेक्ट पूरा होने वाला है।

 

Comments

Most Popular

To Top