Army

11 जुलाई तक 100 आतंकियों को ढेर कर चुकी है सेना

भारतीय-सेना

नई दिल्ली। अमरनाथ यात्रा के दौरान हुए आतंकी हमले से सरकार और सुरक्षा एजेंसियों दोनों को सोचने पर मजबूर कर दिया है। सेना प्रमुख बिपन रावत ने हमले के बाद कश्मीर का दौरा किया और संकेत दिए कि आतंकियों पर अब कार्रवाई और तेज की जाएगी। बता दें कि इस साल भारतीय सेना ने कश्मीर और एलओसी पर करीब 100 आतंकियों को मारा जा चुका है। साल 2017 से पहले तक पिछले वर्ष भारतीय सेना ने भी आतंकियों से लड़ते हुए 87 जवान गवाएं हैं, जिसमें उड़ी हमले में शहीद हुए 20 जवान शामिल हैं।





उड़ी हमले के बाद जनरल बिपिन रावत ने आर्मी की कमान संभाली थी, जो कश्मीर के मामले के एक्सपर्ट रहे हैं। इस साल 11 जुलाई तक 100 आतंकियों को मार गिराया गया है। सूत्रों के अनुसार, सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कमान संभालने के बाद अपने शुरुआती संदेश में साफ किया था हमें घाटी में आतंकियों के लिए मुश्किल पैदा करनी है।

इंडियन-आर्मी

भारतीय सेना ने पाकिस्तान बॉर्डर एक्शन टीम की ओर से कई हमलों का मुंडतोड़ जवाब दिया

सेना के एक अधिकारी के मुताबिक, इसमें क्रेडिट लेने की कोई भी बात नहीं है, ये सब सेना, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों ने मिलकर किया है। आंकड़ों की मानें तो सेना ने जून के महीने में ही 30 से ज्यादा आतंकियों का साफाया कर दिया था। इसमें सबसे ज्यादा आतंकी राष्ट्रीय रायफल के जवानों ने मारे। सेना के ऑपरेशन में शुरुआती चार महीने में ही 42 आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया था। लेकिन जून आते ही सेना ने एक्शन तेज कर दी थी।

जून में 30 को किया ढेर

  • आंकड़ों बताते हैं कि मई में 17, जून में 30 और जुलाई में अब तक 11 आतंकी ढेर किए जा चुके हैं। आर्मी सूत्रों की मानें तो अभी सेना की कार्रवाई में और बढ़ोत्तरी की जाएगी।
  • इसके अलावा सेना ने एलओसी पर कई हमलों को नाकाम किया और घुसपैठ को भी रोका। भारतीय सेना ने पाकिस्तान बॉर्डर एक्शन टीम की ओर से कई हमलों का मुंडतोड़ जवाब दिया। आर्मी के एक अधिकारी ने बताया कि इसमें बड़े ऑफिसरों का काफी समर्थन रहा, जिन्होंने जवानों को खुली छूट दी।
  • सेना के अनुसार, हाल ही में अमरनाथ यात्रियों पर किया गया हमला सेना के इसी एक्शन की बौखलाहट है। सेना ने लश्कर के कई खूंखार आतंकियों को मार गिराया था।

साभार: आजतक

Comments

Most Popular

To Top