Army

शहीद अब्दुल हमीद को श्रद्धांजलि

सेना प्रमुख और अब्दुल हमीद

नई दिल्ली। भारतीय सेना प्रमुख बिपिन रावत रविवार (10 सितंबर) को एक दिन के लिए उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जाएंगे। जनरल रावत गाजीपुर में 1965 की जंग में शहीद परमवीर चक्र विजेता कंपनी क्वॉर्टर मास्टर हवलदार अब्दुल हमीद को श्रद्धांजलि देने जाएंगे।





बता दें जनवरी 2017 में सेना प्रमुख की कमान संभालने के बाद शहीद की विधवा रसूलन बीबी आर्मी चीफ रावत से मिली थीं और आग्रह किया था कि उनके जीते जी वो एक बार शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए उनके मेमोरियल आएं। हर वर्ष 10 सितंबर को शहीद अब्दुल हमीद का परिवार उनके लिए एक सभा का आयोजन करता है। शहीद अब्दुल हमीद की पत्नी की वृद्धावस्था के मद्देनजर जनरल बिपिन रावत ने खुद गाजीपुर जाने का फैसला किया।

परमवीर चक्र विजेता शहीद अब्दुल हमीद व उनकी विधवा पत्नी रसूलन बीबी

भारत-पाकिस्तान 1965 की जंग में क्वार्टर मास्टर हवलदार अब्दुल हमीद साहस का प्रदर्शन करते हुए शहीद हो गए थे। इसके लिए उन्हें मरणोपरांत भारत का सर्वोच्च सेना पुरस्कार परमवीर चक्र प्रदान किया था। 10 सितंबर 1965 को जब पाकिस्तान सेना अमृतसर को घेरकर उसको अपने कब्जे में लेने को तैयार थी, अब्दुल हमीद ने पाकिस्तानी सेना को अपने अभेद्य पैटन टैंकों के साथ आगे बढ़ते देखा। अपने प्राणों की चिंता ने करते हुए अब्दुल हमीद ने अपनी तोप वाली जीप को टीले के समीप खड़ा किया और गोले बरसाते हुए शत्रु के कई टैंक ध्वस्त कर दिए।

Comments

Most Popular

To Top