Army

दुश्मनों के नापाक हरकतों पर नजर रखने के लिए भारत ने बनाया स्पेशल ड्रोन

स्पेशल ड्रोन

नई दिल्ली। भारत-चीन बॉर्डर पर आए दिन चीनी आर्मी की घुसपैठ होती रहती है। ऐसे में अब भारत ने स्पेशल ड्रोन से निगरानी करने की योजना बनाई है। न्यू स्पेस रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी ने एक ड्रोन तैयार किया है जिससे चीन की सीमा पर नजर रखा जा सकेगा। यह ड्रोन भारत में एक स्टार्ट-अप ने डिजाइन किया है। इस स्पेशल ड्रोन के लिए रिसर्च से लेकर डेवलपमेंट तक सबकुछ भारत में ही किया गया है।





स्पेशल ड्रोन की पहली उड़ान जो हाई एल्टीट्यूड स्यूडो सैटेलाइट की श्रेणी में रखा गया है इसे 2019 में आरंभ किए जाने का प्लान है। न्यू स्पेस प्रोजेक्ट डेवलपर ने कहा कि ये हाई एल्टीट्यूड ड्रोन एक आदर्श प्लेटफॉर्म देगा जो कि इंटेलीजेंस, सर्विलांस और रात के समय क्लियर फोटो मुहैया कराएगा। ड्रोन मिलिट्री इंटेलीजेंस, डिसास्टर मैनेजमेंट और होमलैंड सुरक्षा और स्मार्ट सिटी मैनेजमेंट को काफी सहयोग करेगा और तो और ये ड्रोन ट्रैफिक नियंत्रित करने से लेकर रोडवे और रेलवे तक के लिए काफी लाभकारी साबित होगा।

ये है चुनौतियां ?

दरअसल भारत-चीन सीमा पर कई ऊंचाई वाले क्षेत्र हैं। यहां पर हवा का रुख काफी तेज होता है। ऐसे में इस तर की चुनौतियों से निपटना डेवलपर के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। इस ड्रोन के शामिल होने के बाद सुरक्षाकर्मियों की ताकत में बढ़ोत्तरी होगी।

साजिश से निपटने के लिए 600 ड्रोन करेंगे निगरानी

दूसरी ओर सरकार 950 करोड़ रूपये में 600 ड्रोन खरीदने जा रही है। भारतीय सेना इन ड्रोन्स की मदद से सीमा और LoC पर निगरानी करेगी। रिपोर्ट के अनुसार बढ़ती घुसपैठ की घटना को लेकर सरकार ने इन ड्रोन्स को खरीदने की प्लानिंग की है। वहीं घाटी में आतंकवादियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाने वाली सेना की राष्ट्रीय रायफल भी इसका इस्तेमाल करेगी।

Comments

Most Popular

To Top