Army

फैयाज को रोल माडल मान 11 कश्मीरी बने सेना में अफसर

लेफ्टिनेंट-उमर-फैयाज

देहरादून। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज आज भले इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन वह आतंकग्रस्त जम्मू-कश्मीर के युवाओं के लिए तभी रोल माडल बन गया था जब वह फ़ौज में अफसर बना था। उसी से प्रभावित होकर यहाँ के युवाओं ने करियर और देश सेवा के लिए सेना में अफसर बनने की राह चुनी और शनिवार (10 जून) को जम्मू-कश्मीर के 11 युवा इंडियन मिलिट्री एकेडमी (IMA) से स्नातक कर भारतीय सेना के अधिकारी बन गए। जानकारी के मुताबिक़ ये सभी फैयाज को अच्छी तरह से जानते थे और उन्हें अपना रोल माडल मानते थे।





  • फैयाज की हत्या कश्मीरी युवकों को सेना या पुलिस में भर्ती होने से रोकने के लिए आतंकियों की चेतावनी थी लेकिन यहाँ के जागरूक युवाओं में इसका उलटा असर हुआ।

बता दें कि 2016 में सेना में शामिल हुए 23 वर्षीय फैयाज को जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां जिले में आतंकवादियों ने 9 मई की रात अगवा कर लिया था। उन्होंने लेफ्टिनेंट फैयाज को कई घंटों तक तड़पाया और फिर उन्हें मौत के घाट उतार दिया गया। फैयाज अपने मामा की बेटी की शादी में शामिल होने गए थे, जहां से आतंकियों ने उन्हें अगवा कर लिया था।

दरअसल, फैयाज की हत्या कश्मीरी युवकों को सेना या पुलिस में भर्ती होने से रोकने के लिए आतंकियों की चेतावनी थी लेकिन यहाँ के जागरूक युवाओं में इसका उलटा असर हुआ। IMA से पास आउट कश्मीरी पंडित आशुतोष भानटिया भी पहले तो डर गए थे लेकिन फिर उसने सोचा कि हम क्यों डरें, अब आतंकियों को हम ही मौत के घात उतार देंगे। आशुतोष घाटी में ही अपनी तैनाती चाहता था और उसे मिल भी रही है।

आर्मी एविएशन में तैनात लद्दाख में रहने वाले मोहम्मद सलमान ने भी फैयाज के व्यवहार की काफी तारीफ़ की। उसने बताया कि वह एक बहादुर लेफ्टिनेंट और अच्छा इंसान था।

Comments

Most Popular

To Top