Army

SGPC गुरमेहर कौर के साथ और ये सेलेब्रिटी भी

अमृतसर/नई दिल्ली: दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा और शहीद कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी गुरमेहर कौर के समर्थन में अब शीर्ष सिख संगठन और कई सेलेब्रेटी मैदान में उतर आए हैं। पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग के जवाब में क्रिकेटर गौतम गंभीर, बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गट्टा और राजनीतिक पार्टियों को जवाब देने के लिए सिखों के शीर्ष संगठन अकाल तख्त और एसजीपीसी भी उतर आए हैं। वहीं, गुरमेहर के दादा कंवलजीत और सिख तलमेल कमिटी के सदस्यों ने जलंधर के उपायुक्त को ज्ञापन देकर गुरमेहर को बलात्कार की धमकी देने सम्बन्धी दिल्ली में दर्ज एफआईआर में नामजद लोगों की गिरफ्तारी की मांग की है। गुरमेहर के दादा कमलजीत डीसी कार्यालय में डीड राइटर के रूप में कार्यरत हैं।





गुरमेहर कौर पर कमेंट करने से पहले इस वीडियो को जरूर देखें

अपनी अगली फिल्म ‘सरकार 3’ के ट्रेलर लांच पर सुपरस्टार अमिताभ बच्चन से जब गुरमेहर कौर मुद्दे पर टिप्पणी मांगी गई तो उन्होंने कहा, ‘मामले पर मेरी निजी राय है। अगर मैं इसे आपसे साझा करूंगा तो यह सार्वजनिक हो जाएगी।’ प्रसंग से हटकर अमिताभ बच्चन ने कहा था कि, ‘मेरा मानना है कि अगर आप सोशल मीडिया पर हैं, तो आपको ट्रोल्स और गालियों के लिए तैयार रहना चाहिए, मैं तो इसका आनंद उठाता हूं।’ अभिनेत्री अनुष्का शर्मा ने भी ऐसा ही कुछ कहा। उन्होंने कहा की इस मामले में मैं अपनी निजी राय पब्लिक फोरम में नहीं रखना चाहती।

सिख संगठन गुरमेहर के समर्थन में कूदे

अकाल तख्त के प्रमुख ज्ञानी गुरबचन सिंह ने कहा कि सिख समुदाय दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरमेहर कौर के साथ है। अकाल तख्त के जत्थेदार ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि सिख धर्म और इसके वचनों से अनभिज्ञ कुछ लोग सिख लड़की गुरमेहर को धमकियां दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि सिख समुदाय ने क्रूर लोगों से हमेशा ही लड़कियों को बचाया है। यहां तक कि गुरु गोविंद सिंह और उनके पिता गुरु तेग बहादुर साहिब ने अन्य धर्मों के लोगों के जीवन की रक्षा के लिए अपनी जान तक दे दी।

उन्होंने कहा कि संकट के समय में पूरा सिख समुदाय गुरमेहर के साथ खड़ा है। उन्होंने दिल्ली सरकार से गुरमेहर को धमकियां देने वाले लोगों के खिलाफ कड़े कदम उठाने की मांग की और कहा कि ऐसा नहीं होने की स्थिति में सिख समुदाय मूक दर्शक बनकर नहीं रहेगा।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (एसजीपीसी) के अध्यक्ष कृपाल सिंह बहादुर ने भी कहा कि सिख समुदाय हमेशा गुरमेहर के साथ है। उन्होंने कहा कि वह शहीद कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी है जिन्होंने देश के लिए अपनी जान दे दी और उसके मान-सम्मान की रक्षा करना देश का कर्तव्य है।

ज्वाला गट्टा भी गुरमेहर कौर के साथ

मशहूर बैडमिंटन प्लेयर ज्वाला गट्टा ने गुरमेहर पर हो रहे विवाद की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि ये बड़े दुख की बात है कि अगर कोई शांति की बात करना चाहे तो लोग उसे पाकिस्तानी कह कर उस पर निशाना साधते हैं।

उन्होंने विरेंद्र सहवाग पर निशाना साधते हुए भी लिखा है कि कुछ खिलाड़ी गुरमेहर के संदेश का बिना पूरा सच जाने ही उसकी आलोचना कर रहे हैं।

गौतम गंभीर भी उतरे समर्थन में

क्रिकेटर गौतम गंभीर ने अपने ट्विटर पेज से एक वीडियो जारी कर कहा है कि इस देश में अभिव्यक्ति की आजादी सभी को है। इस बात को समझने की जरूरत है और इसे रोजाना जिंदगी के हर क्षेत्र में अपनाना है। उन्होंने गुरमेहर कौर की राष्ट्रीयता पर सवाल उठाने वालों को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि ऐसा करने का किसी को अधिकार नहीं है। गौतम के पेज से ट्वीट हुए वीडियो में सेना के जवानों के साथ गुरमेहर कौर की भी तस्वीर डाली गई है।

वीडियो में लिखा है, ‘मैं अपनी सेना का बेहद सम्मान करता हूं। इनकी सेवा देश के लिए है और वह बेजोड़ है। हाल की घटनाओं से मैं आहत हूं। हम स्वतंत्र देश में रहते हैं, जहां सभी अपनी राय रख सकते हैं। अगर कोई शहीद की बेटी शांति के उद्देश्य के लिए पोस्ट लिखती है तो यह उसका अधिकार है। ऐसे मौके पर लोगों को खुद को देशभक्त साबित करने की जरूरत नहीं है। न ही उस लड़की को किसी गैंग के सामने देशभक्ति साबित करने की जरूरत है। वह एक नागरिक होने के नाते अपनी राय रखने का अधिकार है। लोग उस लड़की की राय से सहमत या असहमत हो सकते हैं, पर किसी को उसे गलत साबित करने का अधिकार नहीं है।’

सहवाग का यू-टर्न

फेसबुक पोस्ट में गुरमेहर कौर ने एबीवीपी के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर करने के लिए जिस तरह की तख्ती के साथ तस्वीर लगाई थी, ठीक उसी अंदाज में वीरेंद्र सहवाग ने तस्वीर पोस्ट की थी, जिसमें लिखा था दो तिहरा शतक उन्होंने नहीं, उनके बल्ले ने बनाया था। सहवाग के इस ट्वीट पर लोगों ने उनकी खिंचाई शुरू कर दी थी तो कुछ लोग उनके समर्थन में आ गए थे।

अब सहवाग ने फिर से ट्वीट कर कहा है कि उन्होंने मजाक किया था। उनका इरादा किसी को परेशान करने का नहीं था। सहमति और असहमति कोई मुद्दा ही नहीं था। इस देश में किसी को भी अपनी बात रखने का पूरा अधिकार है। चाहे वह गुरमेहर कौर हो या फिर फोगाट बहनें।

गुरमेहर को लेकर बॉलीवुड में भी दो फाड़

गुरमेहर मामले में बॉलीवुड भी दो फाड़ हो गया है। अभिनेता अनुपम खेर और अशोक पंडित ने ट्वीट के जरिए गुरमेहर पर निशाना साधा तो वहीं, अभिनेत्री विद्या बालन उनके समर्थन में आ गई हैं, उनका कहना है कि सभी को बोलने का अधिकार है। डायरेक्टर तिग्मांशु धुलिया ने इस खबर को बेवजह खींचने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा वो बच्ची है, जब इस तरह की किसी ख़बर को बढ़ा-चढ़ा कर बताया जाता है तो बहुत दुख होता है।

अब पढ़ाई पर ध्यान दूंगी

विवाद के तूल पकड़ने के बाद गुरमेहर दिल्ली से जलंधर अपने घर चली गई थीं, जहां अब अपनी पढ़ाई पर फोकस करना चाहती हैं। कल अपने घर पर जुटे पत्रकारों से उसने कहा कि अब मैं सिर्फ अपने भविष्य पर ध्यान चाहती हूं। मैं उन सभी का धन्यवाद करती हूं, जिन्होंने मेरा समर्थन किया। उसने कहा कि मैं अतीत में नहीं जाना चाहती। अब मैं मास्टर्स की पढ़ाई खत्म करने पर ध्यान दे रही हूं।

Comments

Most Popular

To Top