Army

महिला सैन्यकर्मी के पति भी कर सकेंगे वोटिंग

महिला सैन्यकर्मी

नई दिल्ली। सैन्यकर्मी की पत्नी सर्विस मतदाता के रूप में वोटिंग कर सकती है, पर महिला सैन्य अधिकारी के पति को यह अधिकार हासिल नहीं है। चुनाव कानून में किए गए प्रावधान के मद्देनजर पति के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। भविष्य में इस व्यवस्था में बदलाव हो सकता है। कानून मंत्रालय से चुनाव आयोग ने भारतीय जनप्रतिनिधित्व कानून में संशोधन का आग्रह किया है। चुनाव आयोग ने इसे लैंगिक शून्य बनाने को कहा है।





आयोग ने कानून मंत्रालय से जनप्रतिनिधित्व कानून में पत्नी की जगह ‘जीवन साथी’ शब्द किए जाने का आग्रह किया है। यह शब्द सर्विस मतदाताओं से संबंधित हैं। सर्विज मतदाताओं का नाम दर्ज किए जाने पर आयोजित एक सेमिनार को संबोधित करते हुए उप-चुनाव आयुक्त संदीप सक्सेना ने कहा, ‘प्रावधान को लैंगिक शून्य बनाने की मांग उठती रही है।’

इसी दौरान उन्होंने सैन्यकर्मी के पति के मतदान संबंधी व्यवस्था पर भी कुछ बातें कहीं। इस सेमिनार में रक्षा, गृह और विदेश मंत्रालय के अलावा विभिन्न सशस्त्र बलों के प्रतिनिधी भी शामिल थे।

Comments

Most Popular

To Top