Army

CASO : शोपियां में पत्थरबाज फिर बने सुरक्षा बलों की रुकावट

पत्थरबाज

श्रीनगर। आतंकवादियों की मौजूदगी की जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने बुधवार को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में घेरो और खोजो अभियान (Cordon and search operation-CASO) चलाया। लेकिन उनके प्रयासों को भीड़ ने पत्थरबाजी करके बाधित किया।





सेना के एक अधिकारी ने बताया कि शोपियां के जैनापोरा क्षेत्र के हेफ़ गांव में खोज अभियान शुरू किया गया था। उन्होंने कहा कि खोज अभियान में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों को शामिल किया गया है। यह अभियान बुधवार को तड़के शुरू किया गया।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि हालांकि, आपरेशन को उन स्थानीय निवासियों द्वारा प्रभावित किया जा रहा था जो सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पत्थरबाजों को खदेड़ने के लिए सुरक्षा बल के अतिरिक्त जवानों को इलाके में पहुंचाया गया है। पत्थरबाजों और सुरक्षा बलों के बीच हुए संघर्ष में अभी तक कोई हताहत नहीं हुआ है। उन्होंने बताया कि ऑपरेशन चल रहा है।

यह तलाशी अभियान ठीक उसी तर्ज पर चलाया जा रहा है जैसा कि दो हफ्ते पहले शोपियां जिले में आतंकवादियों को मारने के लिए शुरू किया गया था लेकिन यह ऑपरेशन कहीं ज्यादा बड़ा है।

सुरक्षा बलों ने 4 मई को पूरे दिन चार हजार जवानों के साथ दो दर्जन गांवों में सर्च अभियान चलाया लेकिन उसके हाथ कुछ नहीं लगा बल्कि सेना की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला जरूर हुआ, जिसमें एक कैब ड्राइवर की मौत हो गई थी औअर कई जवान घायल हो गए थे।

डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने राजनाथ को घाटी के ताजा हालात से रूबरू कराया

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह लगातार जम्मू कश्मीर के हालात पर नजर बनाये हुए हैं। इसके लिए वे लगातार घाटी की ताजा स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं। इस संबंध में बुधवार को जम्मू कश्मीर के उप मुख्यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह ने राजनाथ से नार्थ ब्लॉक में मुलाकात की। निर्मल सिंह ने राजनाथ को कश्मीर के ताजा हालात से रूबरू करवाया और हिंसा फ़ैलाने वालों के खिलाफ कड़ी करवाई करने की मांग की।

उल्लेखनीय है कि कश्मीर घाटी के कुछ जगह पर पिछले कई माह से कानून व्यवस्था चरमराई हुई है। केंद्र लगातार स्थिति को सामान्य करने के लिए प्रयासरत है। इससे पूर्व राजनाथ सिंह ने कहा कि सीमा पर जवानों के सिर काटने की नापाक हरकत पर हर देशवासी का दिल दर्द से भरा हुआ है, लेकिन अब यह दर्द ज्यादा दिनों तक नहीं रहने वाला। पाकिस्तान को उसके ही लहजे में करारा जवाब मिलेगा।’

राजनाथ ने तल्ख लहजे में कहा कि हम इसे बर्दाश्त करने नहीं जा रहे। राजनाथ ने यह भी कहा कि हम ऐलान करके कुछ नहीं करते। जब भी कदम उठाएंगे सब कुछ अचानक होगा, लेकिन इतना तय है कि होगा जरूर।

Comments

Most Popular

To Top