Army

जन्म शताब्दी विशेष: वह जनरल जिसने पाक सेना को घुटने टेकने पर किया मजबूर, जानें 7 खास बातें

भारतीय सेना में कदम-कदम पर जांबाजों के किस्से शौर्य गाथाओं के साथ मिलते हैं। सेना के इतिहास के पन्ने पलटने पर ऐसे तमाम योद्धा दिखाई देते हैं जिन्होंने शौर्य और वीरता की कहानियां लिखीं। ऐसे ही एक योद्धा हैं जनरल सगत सिंह। पद्मभूषण से सम्मानित जनरल सगत सिंह ने अपने सैन्य काल में पाकिस्तानी सेना के छक्के तो छुड़ाये ही, पड़ोसी देश चीन की सेना की आंख में आंख डाल कर भारतीय सेना का लोहा मनवाया है। भारतीय सेना की सप्त शक्ति कमान उनका जन्म शताब्दी समारोह मना रही है। आइये जानते हैं सेना के इस महानायक के जन्म शताब्दी वर्ष पर उनसे जुड़ी कुछ खास बातें-





राजस्थान के चुरू में हुआ था जन्म

जनरल सगत सिंह

सगत सिंह राठौर का जन्म 14 जुलाई, 1919 को राजस्थान में चुरू जिले के कुसुमदेसर(मोड़ा) गांव में हुआ था। देश प्रेम की भावना उनमें बचपन से ही थी। उनके मन में था कि वह सेना में जाकर देश की सेवा करें। पढ़ाई के बाद उन्होंने इंडियन मिलिट्री एकेडमी गए और बीकानेर स्टेट फोर्स ज्वाइन की। जनरल सगत सिंह ने अपने शौर्य का परिचय सबसे पहले दूसरे विश्व युद्ध के दौरान दिया जहां वह मेसोपोटामिया(इराक), सीरिया, फिलिस्तान जैसे युद्धों में भाग लिया।

Comments

Most Popular

To Top