Army

सेना में ट्रांसफर रैकेट? ले. कर्नल समेत दो गिरफ्तार

सीबीआई-मुख्यालय

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI, सीबीआई) ने ट्रांसफर/पोस्टिंग के रैकेट का खुलासा कराते हुए नई दिल्ली स्थित सेना मुख्यालय में तैनात लेफ्टिनेंट कर्नल और प्राइवेट फार्म के मालिक एक बिचौलिए को बेंगलुरु के एक आर्मी अफसर के तबादले के लिए दो लाख रुपये रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। इन पर आरोप है कि ये पैसे लेकर मनचाही जगहों पर तबादले और पोस्टिंग कराते थे। गिरफ्तार लेफ्टिनेंट कर्नल रंगनाथ सुवर्णमणि मोनी और गौरव कोहली को दिल्ली स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया गया जहां उन्हें चार दिन की सीबीआई कस्टडी में भेज दिया गया।





सीबीआई सूत्रों ने शनिवार को बताया कि मोनी को व्यक्तिगत अनुचित तरीके अपनाने के आरोप में कल गिरफ्तार किया गया। वह तिरुवनंतपुरम केरल का मूल निवासी है। वह अगस्त 1994 में सेना में शामिल हुआ था और अगस्त 2015 से सेना मुख्यालय में तैनात है।

सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है। सीबीआई ने गुरुवार को मोनी, सेना के एक अन्य अधिकारी पुरुषोत्तम, प्रोपराइटर गौरव कोहली सहित अन्य अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करा दी है।

इससे पहले सीबीआई ने अभियुक्तों और अन्य लोगों के घरों और नई दिल्ली, हैदराबाद, बेंगलुरु और तिरुवनंतपुरम स्थित ठिकानों पर छापेमारी की जिसमें 10 लाख रुपये नकद के अलावा संदिग्ध दस्तावेज और अन्य वस्तुएं जब्त की हैं। सीबीआई की FIR में एक ब्रिगेडियर का नाम भी है लेकिन उसका नाम आरोपियों की सूची में नहीं है। FIR में घूस के लिए हवाला चैनल के इस्तेमाल का जिक्र किया गया है। एजेंसी अभी इस बात का भी पता लगा रही है कि कितने सैन्य अधिकारियों ने अपनी मनपसंद नियुक्ति पाने के लिए कितने लाख रुपये का भुगतान किया है।

Comments

Most Popular

To Top