Army

उत्तराखंड के तीन सैन्य अफसरों को मिली सेना की बड़ी जिम्मेदारी

नई दिल्ली। उत्तराखंड निवासी तीन लेफ्टिनेंट जनरलों को सेना में अहम जिम्मेदारी दी जा रही है।एक दैनिक अख़बार में प्रकाशित खबर के मुताबिक नए साल में ये तीनों अफसर अपनी अपनी महत्वपूर्ण  जिम्मेदारियां संभाल लेंगे।





सेना में डायरेक्टर जनरल मिलिट्री ऑपरेशन (डीजीएमओ) पद पर अभी पौड़ी निवासी लेफ्टिनेंट जनरल अनिल कुमार भट्ट डीजीएमओ हैं। एके भट्ट को अब 15 कार्प का कमांडर बनाया जा रहा है। कार्प का मुख्यालय श्रीनगर में है। यह कोर्प उत्तरी कमान की सबसे महत्वपूर्ण कोर्प मानी जाती है। सूत्रों के अनुसार, नए डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान होंगे। चौहान पौड़ी के रहने वाले हैं। चौहान अभी 3 कार्प कमांडर हैं। सूत्रों के अनुसार इस महीने के अंत तक लेफ्टिनेंट जनरल चौहान नए डीजीएमओ के रूप में कार्यभार संभाल सकते हैं। इस कोर्प का मुख्यालय दीमापुर है को पूर्वोत्तर से जुड़े अहम् मुद्दे देखती है।

 स्ट्रैजिक फोर्सेज कमांड के कमांडर जेएस नेगी

उत्तराखंड मूल के तीसरे बड़े अधिकारी लेफ्टिनेंट जनरल जेएस नेगी अभी 2 कार्प के कमांडर हैं। इसका मुख्यालय अंबाला में है। उन्हें स्ट्रैजिक फोर्सेज कमांड (एसएफसी) का कमांडर बनाया जा रहा है। इस कमान को स्ट्रैजिक न्यूक्लियर कमांड के रूप में भी जाना जाता है। यह न्यूक्लियर कमांड अथॉरिटी (एनसीए) का हिस्सा होती है।

अहम पदों पर उत्तराखंड निवासी 

खास बात यह है कि ये तीनों ही अधिकारी गोरखा रेजीमेंट से हैं।आपको बता दें कि इनसे पहले भी उत्तराखंड निवासी देश में कई महत्वपूर्ण पदों पर आसीन हैं।  सेना प्रमुख बिपिन रावत और सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल उत्तराखंड निवासी हैं।  उत्तराखंड के ही डीके जोशी अंडमान-निकोबार के उप राज्यपाल हैं। रॉ प्रमुख व  कोस्ट गार्ड के प्रमुख भी उत्तराखंड से ही हैं।

Comments

Most Popular

To Top