Army

अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमले के बाद श्रीनगर पहुंचे आर्मी चीफ

बिपिन-रावत

नई दिल्ली। अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के बाद सरकार एक्शन मोड में आ गई है। हमले के बाद जहां गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आपात बैठक बुलाई, वहीँ गृह मंत्रालय की एक टीम श्रीनगर रवाना हो गई है। उधर, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत भी हालात का जायजा लेने श्रीनगर पहुंच चुके हैं। मुनीर खान आईजी कश्मीर ने बताया कि अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले की साजिश लश्कर-ए-तैयबा ने रची है। अटैक का मास्टरमाइंड पाकिस्तानी आतंकी इस्माइल है।





सुरक्षा अधिकारियों ने लिया हालात का जायजा

इस हमले के बाद पूरे देश में सुरक्षा एजेंसियों को हाई अलर्ट कर दिया गया है। सभी वरिष्ठ अधिकारी सुरक्षा हालात की समीक्षा कर रहे हैं। यूपी में कांवड़ यात्रा पर निकलने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा चाक-चौबंद करने के आदेश दिए गए हैं। बता दें कि सोमवार रात अमरनाथ यात्रियों की बस पर हुए आतंकी हमले में 7 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 32 लोग घायल हो गए थे। ये श्रद्धालु अमरनाथ यात्रा के दौरान बाबा बर्फानी के दर्शन के बाद वापस लौट रहे थे। राज्य के सुरक्षा अधिकारियों ने मंगलवार सुबह घटनास्थल पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया।

सीएम महबूबा मुफ्ती ने बुलाई कैबिनेट बैठक 

जुल्फिकार हसन (आईजी ऑपरेशंस सीआरपीएफ) ने कहा कि जम्मू-कश्मीर पुलिस हमले की जांच कर रही है। जुल्फिकार ने बताया कि यात्रा अब भी जारी है और इसके शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न करवाने के लिए सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए गए हैं। उधर, जम्मू में मोबाइल व इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया है। BSNL की ब्रॉडबैंड सर्विस सीमित स्पीड के साथ उपलब्ध है। इस बीच, राज्य के गवर्नर एनएन वोहरा ने एक मीटिंग बुलाई है। वहीं, कश्मीर की
मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी कैबिनेट की बैठक बुलाई है।

गौरतलब है कि आतंकी इससे पहले भी अमरनाथ यात्रा को कई बार निशाना बना चुके हैं। एक बड़ा हमला साल 2000 में भी हुआ था, जिसमें लगभग 30 तीर्थयात्री मारे गए थे।

2000 से अब तक बड़े हमले: 

  • 2000 : पहलगाम में आधार शिविर पर हमले में 30 लोग मारे गए थे।
  • 2001 : 15 श्रद्धालुओं की मौत
  • 2002 : दो हमले, 10 श्रद्धालु मरे

Comments

Most Popular

To Top