Army

बटालिक में हिमस्खलन से बंकर तबाह, तीन सैनिक शहीद

श्रीनगर: लद्दाख क्षेत्र में आए जबरदस्त बर्फीले तूफान ने नियंत्रण रेखा के पास बटालिक सेक्टर में तबाही मचाई है। 15 फिट बर्फ में पांच सैनिक दब गए जिनमें से तीन की मौत हो गई जबकि दो को सुरक्षित बचा लिया गया। शहीद सैनिक झारखंड के रहने वाले हैं। राहत और बचाव दल ने इन सैनिकों के शव बरामद कर लिए हैं। शहीद जवानों में से एक को जिंदा बचाया गया था लेकिन बाद में उसने दम तोड़ दिया। घटना के तुरंत बाद राहत और बचाव कार्य के लिए हिमस्खलन की स्थिति में बचाव करने में विशेष रूप से प्रशिक्षित दल को मौके पर रवाना कर दिया गया था। इस बीच काकसार सेक्टर में भी सैन्य चौकियां हिमस्खलन की चपेट में आईं। इस मामले में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।





शहीद तीनों सैनिक झारखंड के रहने वाले थे। इनमें हवलदार प्रभु शयु किर्के (43) झारखंड के रांची जिले के पोस्ट बिन्धनी, गाँव सेमना के, लांसनायक बिहारी मरांडी (34) पाकुड़ जिले की तहसील हिरनपुर के पोस्ट देओपुर, गाँव रामनाथपुर के तथा सिपाही कुलदीप लाकड़ा (22) रांची जिले की रांची तहसील के पोस्ट बिशाखा तंगा व गाँव बिशाखा तंगा के रहने वाले थे।

शहीद बिहारी मरांडी के भाई सीआईएसएफ में हैं

हिमस्खलन में शहीद बिहारी मरांडी

हिमस्खलन में शहीद बिहारी मरांडी का पाकुड़ (झारखंड) स्थित गाँव में फोटो दिखाती परिवार की एक बच्ची

नायक बिहारी मरांडी (34) की मौत की खबर मिलते ही पाकुड़ में उनके गांव में सन्नाटा पसर गया। उनके पिता बबन मरांडी एवं माता का स्वर्गवास हो चुका है। अविवाहित बिहारी मरांडी कुल चार भाइयों में से तीसरे नंबर पर थे। उनके सबसे बड़े प्रधान मरांडी दिल्ली में तथा मंझले प्रेम मरांडी कहलगांव में सीआईएसएफ में तैनात हैं। जबकि सबसे छोटा भाई बबलू मरांडी पढ़ाई कर रहा है।

आपको बता दें कि इसी साल जनवरी में कुपवाड़ा के मच्छिल, बांदीपुरा के गुरेज और गांदरबल के सोनमर्ग क्षेत्र में हुए तीन अलग-अलग हिमस्खलन में एक मेजर, एक जूनियर कमीशन्ड ऑफीसर समेत सेना के 20 जवान अपनी जान गवां चुके हैं। मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार श्रीनगर में बुधवार से 83.9 मिमी बारिश और बर्फ गिरी है।

Comments

Most Popular

To Top