Army

सेना की कश्मीरी माताओं से अपील- आतंकी बेटों को सरेंडर करवाएं नहीं तो मारे जाएंगे

सेना और सीआरपीएफ के अधिकारी

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) पर हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना और सीआरपीएफ की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सेना के अधिकारी चिनार कोर के कोर कमांडर कंवलजीत सिंह ढिल्लन ने बताया कि आतंकी हमले के 100 घंटे के भीतर हमले के दोषियों को ठिकाने लगा दिया गया है।





सेना अफसरों ने जम्मू-कश्मीर के भटके हुए उन युवाओं को सरेंडर कर मुख्य धारा में शामिल होने की अपील की। उन्होंने कहा कि जिन माताओं के बच्चे भटक गए हैं वो अपने बच्चों को समझा कर सरेंडर कराएं नहीं तो मारे जाएंगे। इसके मद्देनजर सरकार की खास पॉलिसी भी है।

सीआरपीएफ के आईजी ऑपरेशन जुल्फीकार हसन ने कहा- हमारी हेल्पलाइन 14411 इस आतंकी हमले के संबंध में देशभर में कश्मीरियों की मदद कर रही है। कई कश्मीरी छात्रों ने देशभर से इस संबंध में हमसे मदद मांगी है।

सीआरपीएफ के आईजी ऑपरेशन जुल्फीकार हसन ने कहा – हमारी हेल्पलाइन 14411 इस आतंकी हमले के संबंध में देशभर में कश्मीरियों की मदद कर रही है। कई कश्मीरी छात्रों ने देशभर से इस संबंध में हमसे मदद मांगी है। कश्मीर से बाहर पढ़ रहे छात्रों की सुरक्षा का नजर रखी जा रही है।

 

Comments

Most Popular

To Top